इस पौधे को छूने के बाद क्यों करते हैं लोग आत्महत्या?

0
512

Suicide Plant: क्या है इस पौधे का रहस्य?

Suicide Plant: हमारी पृथ्वी में कई रहस्यमयी पेड़ पौधे मौजूद है, इन्हीं रहस्यमयी पौधों में से एक पौधा ऐसा भी है जो आपको आत्महत्या करने में मजबूर कर देगा। ये पौधा दुनिया का सबसे जहरीला और खतरनाक पौधा (Suicide Plant) है जो किसी को भी आत्महत्या करने में मजबूर कर देगा।

इस खतरनाक पौधे का नाम है जिम्पई- जिम्पई जो दिखने में इतना साधारण लगता है कि आप पहचान भी नहीं पाएंगे कि ये पौधा कितना खतरनाक है। इस पौधे (Suicide Plant) को जिस किसी ने भी छुआ उसे बिजली के झटके जैसा एहसास हुआ और उसके बाद ऐसा मन किया कि अपने आप को खत्म कर दें।

जिस भी इंसान ने इस पौधे को छुआ और बचने में सक्षम रहा उन्होंने बताया कि इसका डंक इतना भयानक दर्दनाक होता है कि व्यक्ति तड़प जाता है और इसके बाद मन करता है कि खुद की ही जान लेलें, इसी कारण इस पौधे को लोग सुसाइड प्लांट (Suicide Plant) के नाम से जानते हैं।

मरिना हर्ले नाम की एक वैज्ञानिक द्वारा बताया गया कि जब वह ऑस्ट्रेलिया के वर्षावनों पर शोध कर रहीं थी तो उस समय उन्होंने भी इस पौधे (Suicide Plant) पर हाथ लगा दिया था। मरिना जानती थीं कि इस जंगल में कई खतरनाक पेड़ पौधे मौजूद हैं और सावधानी बरतने के लिए मरिना ने अपने हाथों में वेल्डिंग ग्लव्स और बॉडी सूट पहना हुआ था।

ये भी पढ़ें:
Gold Rain in India
जब आसमान से होने लगी सोने की बारिश

इसी शोध के दौरान मरिना जिम्पई- जिम्पई पौधे (Suicide Plant) के संपर्क में आई और वेल्डिंग ग्लव्स पहनने के बावजूद भी इस पौधे (Suicide Plant) ने उनके शरीर में अपना ज़हर फैला दिया। मरिना ने बताया कि जैसे ही उन्होंने इस पौधे (Suicide Plant) को छुआ उन्हें एसिड और बिजली के झटके जैसा एहसास हुआ और इसके तुरंत बाद उन्हें अस्पताल में भर्ति कराया गया।

मरिना का पूरा शरीर लाल हो चुका था और पूरे शरीर में भयानक जलन हो रही थी। मरिना के शरीर से इस पौधे (Suicide Plant) के जहर का असर कम करने में काफी वक्त लगा। वह अस्पताल में काफी लंबे समय तक भर्ती रहीं और उन्हें स्टेरॉयड का भी सेवन करना पड़ा।

एक रिपोर्ट के मुताबिक द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इस पौधे (Suicide Plant) ने कई सैनिकों की जाने लीं। इस पौधे के जहर से ये सैनिक इस कदर तड़प गए कि इनमें से कइयों ने खुद को गोली मारली और जो बच गए वो कई सालों तक दर्द से तड़पते रहे।

इस पौधे (Suicide Plant) के बायलॉजिकल नाम की बात करें तो इसे डेंड्रोक्नाइड मोरोइड्स के नाम से जाना जाता है। ये भयानक जहरीला पौधा ऑस्ट्रेलिया के उत्तर-पूर्वी रेनफॉरेस्ट में पाया जाता है और साथ ही मोलक्कस और इंडोनेशिया में भी ये पौधा (Suicide Plant) पाया जाता है। इस पौधे को ज्यादातर लोग सुसाइड प्लांट (Suicide Plant) के नाम से जानते हैं, लेकिन इस पौधे के और भी कई नाम हैं जैसे कि जिम्पई- जिम्पई, स्टिंगिंग ब्रश, मूनलाइटर, जिम्पई स्टिंगर।

ये पूरा पौधा कांटों से भरा होता है जिसमें न्यूरोटॉक्सिन नाम का जहर मौजूद होता है जिसका सीधा असर नर्वस सिस्टम पर पड़ता है। इस पौधे के चुभने के 30 मिनट के अंदर ही जहर पूरे शरीर में इस कदर फैल जाता है कि इंसान तड़पकर खुदखुशी करने पर मजबूर हो जाता है।

ये भी पढ़ें:
Cockroach drink
यहां क्यों पिया जाता है कॉकरोच का शरबत?

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com