उत्तराखंड में बारिश का कहर, इन इलाकों में आपदा जैसे हालात

0
32
HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND
HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND

DEVBHOOMI NEWS DESK: उत्तराखंड में जगह-जगह भारी बारिश का दौर जारी है। राज्य के कई क्षेत्रों में भारी बारिश के कारण नुकसान हुआ है।हल्द्वानी और देहरादून जैसे मैदानी शहरों में मूसलाधार बारिश (HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND) के कारण आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है, पिछले 2 दिनों से लगातार हो रही बारिश से नदी नाले और नहरें ओवरफ्लो हो रही हैं। जगह-जगह सड़कों पर जलभराव हो गया है। जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घंटे भी भारी बारिश का रेड अलर्ट है।

HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND
HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND

HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND: बारिश के कारण सड़कें बंद 

बता दें कि राज्य में 100 से ज्यादा सड़कें बंद हैं। जिन्हें खोलने का कार्य चल रहा है। कुमाऊँ क्षेत्र में चंपावत एनएच के पास स्वांला में मलबा आने से यातायात बाधित हुआ है। मलबा आने से करीब सड़क के दोनों तरफ 300 से ज्यादा यात्री फंस गए हैं। स्थानीय प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से टनकपुर के ककराली गेट पर चंपावत की तरफ जाने वाले वाहनों को रोक दिया है।

UTTARAKHAND ELECTION RESULT 15

HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND: रुद्रप्रयाग और पौड़ी में मलबा आने से जनजीवन प्रभावित 

भारी बारिश की वजह से रुद्रप्रयाग के सुमाड़ी-सेमा-बिराणगांव मोटरमार्ग पर मलबा आने से आपदा जैसी स्थिति बन गई है। वहीं मोटरमार्ग के मलबे के कारण लस्तर नदी में भी झील बन गई है। इसके अलावा बारिश के कारण जिले में कई बार तिलवाड़ा-घनसाली मोटरमार्ग भी बाधित हो चुका है। कई जगहों पर कृषि भूमि भी तबाह हुई है। पौड़ी जिले के बीरोंखाल के अंतर्गत आने वाले सुकई गांव में भारी बारिश से मलबा लोगों के घरों में घुस गया।

HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND
HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND

पिथौरागढ़ में भी यातायात प्रभावित 

सीमांत जनपद पिथौरागढ़ जिले में लगातार मूसलाधार बारिश जारी है। बारिश के कारण मलबा आने से जिले में 20 सड़कें बंद हो गई हैं। जिले के धारचूला-तवाघाट-गुंजी सड़क बंद होने से स्थानीय लोगों के साथ पर्यटक भी फंसे हुए हैं। सड़कें बंद होने के कारण लोगों को पैदल चलना पड़ रहा है। इसके अलावा कई स्थानों पर पहाड़ी से पत्थर भी गिर रहे है। वहीं धारचूला में भी काली नदी का जल स्तर चेतावनी लेवल से ऊपर आ गया है। (HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND)

UTTARAKHAND ELECTION RESULT 16

मसूरी में रोड बंद होने से लगा जाम 

पहाड़ों की रानी मसूरी में भारी बारिश की वजह से थत्यूड़-मसूरी-देहरादून मोटर मार्ग बंद हो गया। यहाँ पर लोक निर्माण विभाग की 2 जेसीबी मशीनों द्वारा मलबा हटाकर मार्ग को खोल दिया गया। थत्यूड़ से 1 किलोमीटर की दूरी पर 33 केवी सब स्टेशन के पास भारी मलबा गिरने से मार्ग बंद हो गया था। वहीं सड़क बंद होने के कारण दोनों ओर वाहनों का लंबा जाम लग गया। इस जाम में मसूरी-देहरादून, चंबा और चिन्यालीसौड़ को जाने वाली गाड़ियां भी फंस गईं।

HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND
HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND

मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट 

मौसम विभाग के अनुसार उत्तराखंड में अगले चार दिन भी तेज बारिश होने की संभावना है। खासकर कुमाऊँ मंडल में भारी से भी भारी बारिश हो सकती है। कई क्षेत्रों में बारिश के दौरान बादलों की तेज गर्जना होने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र ने बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में भी टिहरी, पौड़ी, देहरादून और हरिद्वार जिलों में कई स्थानों पर भारी बारिश की आशंका है। इन जिलों के लिए मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं सीमांत जिलों उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग में भी में मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है।

ये भी पढिए-

Heavy Rainfall Alert in Uttarakhand
Heavy Rainfall Alert in Uttarakhand

सावधान! अगले तीन दिन उत्तराखंड पर भारी, बहुत भारी बारिश की चेतावनी

प्रशासन की टीम राहत कार्यों के लिए तैनात 

मॉनसून के दौरान हो रही भारी बारिश के अलर्ट के बाद पूरे राज्य में निगरानी बढ़ा दी गई है। उत्तराखंड प्रशासन और पुलिस की टीम द्वारा लगातार नदी और नहर के किनारे रह रहे लोगों को सतर्क किया जा रहा है। जगह जगह पर प्रशासन की टीम लगातार मॉनीटरिंग कर रही है। कई इलाकों में आपदा की स्थिति में प्रशासन की टीम खाने के पैकेट और पानी की बोतल समेत अन्य जरूरी सामान के साथ मौके पर रवाना हुई हैं। भूस्खलन वाले इलाकों में पीडब्ल्यूडी और अन्य विभाग द्वारा सड़कों को खोलने के लिए जेसीबी तैनात किये गए हैं। (HEAVY RAINFALL IN UTTARAKHAND)

WhatsApp Image 2023 09 11 at 12.33.23देवभूमि उत्तराखंड से जुड़ी हर खबर और जानकारी के लिए क्लिक करें-देवभूमि न्यूज