इस पहाड़ में कैसे आए इंद्रधनुष के रंग?

0
39

Rainbow Mountain: कुदरत की अनोखी पेंटिग देख दंग रह जाएंगे आप भी  

Rainbow Mountain: आसमान में जब भी इंद्रधनुष दिखाई देता है तो बच्चा हो या जवान हर किसी के चरहे पर मुस्कान आ जाती है। लेकिन अगर आपको यही इंद्रधनुष पहाड़ों (Rainbow Mountain) में नजर आएं तो, प्रकृति की इस अद्भुत कला को जिसने भी देखा, दंग रह गया।

ये रेनबो माउंटेन (Rainbow Mountain) पेरू में स्थित है, जिसकी कलाकारी देखने लायक है। ये दृश्य देख ऐसा लगता है कि मानों प्रकृति ने चुन चुन कर इन रंगों को पहाड़ में पिरोया हो। इस पर्वत की ऊंचाई 17000 फीट है, जिसमें आपको साफ तौर पर इंद्रधनुष के 7 रंग दिखाई देगें। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इस पर्वत श्रंखला पर दिखाई देने वाले ये रंग पहले से नहीं थे बल्कि कुछ वर्षों पहले से ही दिखाई देने लगे। मगर कैसे अचानक इस पहाड़ पर ये रंग आए।

दरअसल ऐसी मान्यता है पत्थरों के क्षरण के कारण पहाड़ की ऊपरी सतह पर मौजूद मिट्टी बह गई और इस पहाड़ की नचली सतह पर मौजूद अलग अलग रंग दिखाई देने लगे।

इस रेनबो माउंटेन (Rainbow Mountain) को देखने का भी एक वक्त है। अगर आप इस पर्वत के रंगों को साफ साफ देखना चाहते हैं तो इसका सही वक्त है जून से लेकर सितंबर तक का महीना। इस दौरान यहां अच्छी खासी धूप रहती है जिसमें ये रंग साफ तौर पर खिले हुए नजर आते हैं, लेकिन अगर बात करें पर्यटकों की तो इस पर्वत को देखने के लिए यहां पर्यटकों का तातां साल में 8 महीने लगा रहता है।

ये भी पढ़ें:
Kyaiktiyo Pagoda
चट्टान के किनारे टिका है ये रहस्यमयी पत्थर, महिलाएं नहीं छूं सकती इस पत्थर को

सर्दियों में इस पर्वत पर आने की अनुमति नहीं होती है क्योंकि बहुत ज्यादा बर्फबारी होने के कारण ये सभी पहाड़ बर्फ की चादर के नीचे ढ़क जाते हैं, जिसके कारण इस पहाड़ में दिखाई देने वाले रंग भी नहीं दिखाई दे पाते। वहीं इसके साथ ही इस पहाड़ (Rainbow Mountain) तक पहुंचने के लिए जिस रस्ते से आपको गुजरना पड़ता है वो भी बेहद खतरनाक है और बर्फबारी के दौरान तो और भी ज्यादा खतरनाक हो जाता है।

आपको अगर इस पर्वत (Rainbow Mountain) तक आना है तो आपको सबसे पहले कुस्को आना होगा, यहां से करीबन 6 घंटों में आप अपनी गाड़ी से इस पर्वत के बेस तक पहुंचेंगे और फिर बेस से आपको करीबन तीन घंटे तक पैदल सफर तय करना पड़ेगा। वहीं ऊचांई पर होने के कारण यहां ऑक्सीजन भी काफी कम है और ऐसे में यहां जाने वाले पर्यटकों को इस इलाके में सांस लेने में दिक्कत होती है।     

Rainbow Mountain Peru
Source: Pexels

अगर आप इस पर्वत (Rainbow Mountain) को देखेंगे तो आपको इसमें बैंगनी, पीला, हरा और लाल रंग साफ साफ दिखाई देगा। लेकिन  ये रंग अभी भी लोगों के लिए एक पहेली बने हुए हैं। वहीं इन रंगों पर वैज्ञानिकों का कहना है कि इस पर्वत पर मौजूद रंगों के पीछे का कारण है यहां अधिक मात्रा में पाए जाने वाले खनिज तत्व।

इस पहाड़ में कैसे आए इंद्रधनुष के रंग?

वैज्ञानिकों का कहना है कि इस पर्वत (Rainbow Mountain) पर मौजूद पीला रंग आयरन सल्फाइड के कारण यहां मौजूद है, लाल रंग आयरन ऑक्साइड के कारण और नीला या फिर हरा रंग क्लोराइड के कारण मौजूद है। इस अनोखे पहाड़ को देखने के लिए हर साल यहां 4 लाख से ज्यादा पर्यटक आते हैं, लेकिन इन्हें बरसात और सर्दी के मौसम यहां आने से अनुमति बिलकुल नहीं है।      

ये भी पढ़ें:
Liquid Rainbow River
इंद्रधनुष के रंग कैसे आए एक ही नदी में, वजह बेहद खूबसूरत

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com