सक्रीय ज्वालामुखी होने के बावजूद भी क्यों रहते हैं यहां लोग?

Aogashima Island
Aogashima Island

Aogashima Island: इस ज्वालामुखी विस्फोट में 140 लोगों की हुई थी मौत

Aogashima Island: इस संसार में कुछ ऐसी जगहें मौजूद हैं जो खूबसूरत होने के साथ- साथ बेहद खतरनाक भी हैं और खतरनाक होने के बावजूद भी यहां लोग रहते हैं और अपना जीवन यापन करते हैं। ऐसी ही एक खूबसूरत और साथ ही बेहद खतरनाक जगह है जहां एक सक्रीय ज्वालामुखी है जो इतना खतरनाक है कि वो कभी भी फट सकता है। यहां रह रहे लोगों की जिंदगी में हर वक्त मौत का साया मंडरा रहा है फिर क्यों ये लोग यहां रह रहे है। आज के इस लेख में आपको इस आइलैंड के बारे में सबकुछ जानने को मिलेगा।

ये आइलैंड (Aogashima Island) जापान में मौजूद है जो बेहद खतरनाक है और साथ ही खूबसूरत भी। इस आइलैंड (Aogashima Island) की दूरी जापान की राजधानी टोक्यो से करीबन 358 किलोमीटर है, यहां कुल 170 लोग रहते हैं। इस आइलैंड का नाम है आओगाशिमा आइलैंड (Aogashima Island), जहां कई सारे सक्रीय ज्वालामुखी हैं। जिस दिन भी इनमें से एक भी ज्वालामुखी फटा समझो यहां रह रहे कई लोगों की जान गई।

मगर सवाल ये है कि आखिर क्यों यह सभी लोग इतना खतरा होने के बावजूद भी यहां रह रहे हैं। दरअसल यह आइलैंड (Aogashima Island) इतना ज्यादा खूबसबरत है कि यह जगह लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है। पूरी दुनिया में ये आइलैंड एक मात्र ऐसी जगह है जहां से आपको रात के समय में आकाशगंगा बिलकुल साफ साफ नजर आऐगी। यहां के लोगों को इस जगह से और यहां की खूबसूरती से इतना प्यार है कि कोई भी इस जगह को छोड़कर कहीं नहीं जाना चाहता।

ये भी पढ़ें:
Patagonia Marble Caves
इन गुफाओं को देख आर्कीटेक्ट भी रह गए दंग

यह खतरनाक आइलैंड (Aogashima Island) फिलीपिन सागर के बीच में बसा हुआ है और 8.75 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। आइलैंड में मौजूद मुख्य सक्रीय ज्वालामुखी बेहद बड़ा है इसकी चौड़ाई 2.5 किलोमीटर है, वहीं इसकी लंबाई 3.5 किलोमीटर है।

Aogashima Island
Source: Social Media

आपको बता दें कि हाल फिलहाल में ये ज्वालामुखी (Aogashima Island) नहीं फटा है लेकिन ये एक सक्रीय ज्वालामुखी होने के कारण कभी भी फट सकता है। वहीं आखिरी बार ये ज्वालामुखी 1781 से 1785 के बीच में फटा था और उसके बाद से अबतक यहां कोई ज्वालामुखी विस्फोट नहीं हुआ है। ये आइलैंड (Aogashima Island) लोगों की नजरों में तब आया जब 1652 में यहां कई ज्वालामुखी फटे थे। हालांकि इस बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है कि इस आइलैंड (Aogashima Island) में लोग बसना कब शुरु हुए थे।

सक्रीय ज्वालामुखी होने के बावजूद भी क्यों रहते हैं यहां लोग?

1780 में यहां लगातार कई भूकंप आए जिसके बाद एक के बाद एक यहां कई ज्वालामुखी विस्फोट होने लगे, इस दौरान इस आइलैंड में करीबन 63 परिवार रहा करते थे और इन परिवारों के 327 लोगों में से 140 लोगों की इस ज्वालामुखी विस्फोट में दर्दनाक मौत हो गई। इन लोगों की मौत के बाद भी यहां के लोगों ने इस आइलैंड को कभी नहीं छोड़ा।

आपको बता दें कि जापान सरकार द्वारा इस ज्वालामुखी को क्लास-सी कैटेगरी में रखा गया है। ये आइलैंड (Aogashima Island) आकाशगंगा के सुंदर नजारे के साथ साथ पक्षी उद्यान के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। यहां आपको वुडपीजन जैसे कई अन्य पक्षी दिखाई देगें।

ये भी पढ़ें:
Fly Geyser
जमीन से निकला इतना गर्म पानी कि वैज्ञानिकों के तक उड़ गए होश

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com