जमीन से निकला इतना गर्म पानी कि वैज्ञानिकों के तक उड़ गए होश  

0
108

Fly Geyser: किसान द्वारा खोजा गया गर्म पानी का फव्वारा

Fly Geyser: आपने धरती में कई प्रकार के अजूबे देखें होगें जिनकी खोज ज्यादातर वैज्ञानिकों द्वारा ही की गई है लेकिन पृथ्वी में एक फ्लाई गीजर मौजूद है जिसकी खोज किसी वैज्ञानिक द्वारा नहीं की गई है बल्कि एक किसान द्वारा की गई है। ये फ्लाई गीजर धरती से निकल रहा एक गर्म पानी का फव्वारा (Fly Geyser) है जिसकी खोज एक किसान द्वारा की गई थी।

ये फव्वारा (Fly Geyser) एक बंजर जमीन पर मौजूद है जिसका तापमान 100 डिग्री से भी ज्यादा है लेकिन कैसे इस फव्वारे ने यहां जन्म लिया ये एक बड़ी ही मजेदार स्टोरी है।

ये जगह अमेरिका के नेवादा के उत्तरी छोर पर स्थित है जो फ्लाय रैंच नाम की जगह पर मौजूद है। ये एक एसी खूबसूरत जगह है जो लोगों से अब भी अछूती है और इसी कारण इस जगह की प्राकृतिक खूबसूरती अब भी बरकरार है।

fly geyser
Source: Social Media

ये गर्म पानी का फव्वारा (Fly Geyser) एक किसान द्वारा खोजा गया था। दरअसल 20वीं सदी में यहां रह रहे किसानों को खेती करने के लिए पानी की जरूरत थी और इन्हीं किसानों में से एक किसान ने अपनी बंजर जमीन में पानी की खोज के लिए खोदना शुरु किया। जमीन में काफी गहराई तक खोदने के बाद अचानक जमीन के अंदर से एक गर्म पानी की धार बाहर आई जिसे देख किसान भी हैरान रह गया। गर्म पानी की धार (Fly Geyser) का तापमान 100 डिग्री से भी ज्यादा था जिसे देख किसान घबराकर वहां से चला गया।

ये भी पढ़ें:
Great Blue Hole
समुद्र के बीच में है ये भयानक गुफा, कोई गिरा तो समझो..

अब क्योंकि धरती से पानी तो निकला था लेकिन वो इतना ज्यादा गर्म (Fly Geyser) था कि उसे खेती के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता था। इसलिए किसान उस जगह को वैसे ही छोड़कर वहां से चला गया जिसके बाद गर्म पानी में मौजूद मिनरल्स और कैल्शियम कार्बोनेट धीरे-धीरे उस जगह में जमते चले गए और फिर गड्ढ़ा तो भरा ही साथ ही यहां एक कोने जैसे आकार का पहाड़ भी बन गया, जिसके अंदर से गर्म पानी का फव्वारा बाहर निकलता है।

इसके बाद 1964 में एक ऊर्जा कंपनी द्वारा इस पानी के फव्वारे के बिलकुल बगल में एक बेहतर ड्रीलिंग टेक्नॉलिजी के साथ गड्ढ़ा किया गया, इस गड्ढ़े के अंदर से भी इतना गर्म पानी बाहर (Fly Geyser) आया कि कंपनी को इस प्रोजेक्ट को यहीं बंद करना पड़ा और इस गड्ढ़े को ऊपर से बंद करने के लिए कंपनी द्वारा ढ़क्कन लगा दिया गया, लेकिन गर्म पानी का प्रेशर इतना तेज था कि ये पानी ढ़क्कन को तोड़कर बाहर आ गया।

जमीन से निकला इतना गर्म पानी कि वैज्ञानिकों के तक उड़ गए होश

ये पानी कई अलग-अलग रंगों में बाहर आया और कुछ केमिकल रिएक्शन्स के कारण इसका रंग बदलता रहता है। दरअसल इस पानी के रंगीन होने का कारण है इसमें मौजूद थर्मोफिलिक एल्गी और कैल्शियम कार्बोइड, जिसके कारण इसका रंग बदलता रहता है। जिस पहाड़ में से ये गर्म पानी (Fly Geyser) बाहर आता है उन गीजर्स की लंबाई 6 से 12 फीट तक है और चौड़ाई करीबन 12 फीट है।

ये भी पढ़ें:
Socotra Island Yemen
ये है एलियन आइलैंड, यहां पेड़ों से निकलता है खून!

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com