यहां होती है अंगारों की बारिश, जल जाता है शरीर का पानी

0
88

Death Valley: अमेरिका जाने वाले लोगों को गुजरना पड़ता था इसी डेथ वैली से होते हुए

Death Valley: पृथ्वी में मौजूद डेथ वैली वो जगह है जहां से जो कोई भी गुजरा वो कभी नहीं बच पाया। ये डेथ वैली अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित है जो कई रहस्यों से भरी हुई है। अमेरिका जाने वाले लोगों को इसी डेथ वैली (Death Valley) से होकर गुजरना पड़ता था और जैसे ही ये लोग इस डेथ वैली से गुजरते थे इन लोगों की मौत हो जाती थी। मगर ऐसा क्या है इस जगह में जो यहां से गुजरने वाले लोग मारे जाते थे।

दरअसल ये जगह दुनिया की सबसे गर्म जगहों में से एक है, यहां इतनी गर्मी है कि जो भी व्यक्ति यहां से गुजरता है उसकी मौत हो जाती है। यहां भयंकर गर्मी होने के कराण जो भी व्यक्ति यहां जाता है या फिर यहां से गुजरता है उसके शरीर का पानी पलभर में जल जाता है जिसके कारण इंसान की यहां तुरंत मृत्यु हो जाती है। सितंबर के महीने में यहां के तापमान की बात की जाए तो ये 53 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है।

ये डेथ वैली (Death Valley) 225 किलोमीटर लंबी है और 8 से 15 किलोमीटर तक चौड़ी है। इस डेथ वैली (Death Valley) की सबसे हैरान कर देने वाली बात ये है कि इसकी चौड़ाई घटती बढ़ती रहती है। इस जगह की एक और हैरान कर देने वाली बात ये है कि यहां बड़े बड़े पत्थर अपने आप ही खिसकने लगते हैं। इन पत्थरों का वजन करीबन 100 किलो से भी ज्यादा होता है।

ये भी पढ़ें:
lonar lake mystery
झील के इस रहस्य से वैज्ञानिक तक नहीं उठा पाए हैं पर्दा

ये पत्थर खिसकते खिसकते 3 से 4 किलोमीटर तक आगे चले जाते हैं और जब ऐसा होता है तो ये पत्थर पीछे से एक निशान बनाते हुए आगे बढ़ते हैं। इस विषय (Death Valley) पर जब वैज्ञानिकों द्वारा शोध किया गया तो उनके तक दिमाग चकरा गए। वैज्ञानिकों का कहना था कि ये पत्थर इतने बड़े और भारी हैं कि इनका किसी दबाव के बिना हिलना नमुमकिन है।

वहीं कई वैज्ञानिकों का कहना था कि हो सकता है कि इस जगह (Death Valley) पर तेज हवाएं चलने के कराण ये पत्थर खिसकते हों, लेकिन आजतक किसी ने भी अपनी आखों से इन पत्थरों को खिसकते नहीं देखा तो ये कहना थोड़ा मुशकिल होगा कि ये पत्थर क्यों अपनी जगह से खिसकते हैं और ऐसे में इस विषय पर अब भी रहस्य ही बरकरार है।     

आपको बता दें कि पहले अमेरिका जाने वाले लोग इसी डेथ वैली (Death Valley) से होते हुए जाते थे लेकिन इस जगह पर इतनी ज्यादा गर्मी होने के कारण यहां से गुजरने वाले लोग या फिर जानवर रस्ते में दम तोड़ देते थे। इन सभी की मौत शरीर में पानी की कमी के कारण हुई थी।

ऐसे में जब वैज्ञानिकों को यहां से काफी मात्रा में इंसानों और जानवरों के कंकाल मिले तो इस वैली को डेथ वैली (Death Valley) नाम दे दिया गया, जिसके बाद अमेरिका की सरकार द्वारा इस डेथ वैली (Death Valley) पर लोगों के जाने पर रोक लगा दी गई, 1933 में अमेरिकी सरकार द्वारा इस डेथ वैली (Death Valley) में मारे जाने वाले लोगों की याद में स्मारक भी बनवाया गया था।

ये भी पढ़ें:
phuktal monastry
बर्फीले रेगिस्तान में बसा रहस्यमयी मठ

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com