यहां मोटा होने के लिए पीया जाता है दूध और खून, कैसी है परंपरा?

0
133
bodi tribe
Bodi Tribe

Bodi Tribe: इस जनजाति के लोगों में होता है मोटा होने का कंपटीशन

Bodi Tribe: आपने पूरे विश्व में कई ऐसी जनजातियों के बारे में सुना होगा जो बेहद खतरनाक होती है, लेकिन इन्हीं खतरनाक जनजातियों में से एक जनजाती (Bodi Tribe) ऐसी भी है जो अपने खूंखार रवैये के लिए नहीं बल्की एक अनोखी परंपरा के लिए जानी जाती है। इस जनजाति (Bodi Tribe) में जो व्यक्ति सबसे मोटा होता है उसे जिंदगी भर के लिए हीरो का दर्जा दे दिया जाता है और मोटा होने के लिए ये लोग एक मिश्रण पीते हैं। क्या है ये परंपरा और इस दौरान प्रतियोगिता में भाग लेने वाले इंसान को क्या क्या करना पड़ता है वो आपको आज जानने को मिलेगा।

दुनिया की कई रहस्यमयी जनजातियों (Bodi Tribe) में शामिल है इथियोपिया की बोदी जनजाति (Bodi Tribe) जो अपने रहन- सहन और एक अनोखी परंपरा के लिए जानी जाती है। बोदी जनजाति (Bodi Tribe) की ये परंपरा कई हजारों साल पुरानी है। इस परंपरा में भाग लेने वाले आदमी को अपना वजन बढ़ाना होता है। जो व्यक्ति जितना ज्यादा मोटा होगा उनके जीतने के आसार उतने ही ज्यादा होंगे।

ये भी पढ़ें:
Dancing Plague of 1518
जब नाचते नाचते हुई एक साथ कई लोगों की मौत

आपने सुंदरता की प्रतियोगिता के बारे तो बहुत सुना होगा लेकिन आपने इस तरह की प्रतियोगिता के बारे में शायद ही कभी सुना होगा। बोदी जनजाति (Bodi Tribe) की ये प्रतियोगिता 6 महानों तक चलती है। इस दौरान जो भी व्यक्ति इस प्रतियोगिता में भाग लेता है उसे मोटा होने के लिए दूध और खून का मिश्रण पीना होता है।

6 महीनों तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाला कोई भी शख्य किसी के साथ भी कोई संबध नहीं बना सकता। इन 6 महीनों में पुरुष एक झोपड़ी में रहता है और यहीं रहकर ये पुरुष दूध और खून के मिश्रण का सेवन करते हैं। गांव की महिलाएं झोपड़ी में रह रहे पुरुषों को हर दिन दूध और खून का मिश्रण देती हैं।

बोदी जनजाति (Bodi Tribe) के लोग इस प्रतियोगिता के दौरान गाय के दूध और खून का सेवन करते हैं। इस जनजाति (Bodi Tribe) के लोग गाय को पवित्र मानते हैं और इसी कारण ये गाय की हत्या नहीं करते बल्की गाय की नस को थोड़ा सा काटकर उसमें से खून निकालते हैं और फिर मिट्टी से उसे बंद कर देते हैं।

इसके बाद जब प्रतिभागियों को खून और दूध का मिश्रण दिया जाता है तो उसके जमने से पहले ही इन प्रतिभागियों को इस मिश्रण का सेवन करना होता है। वहीं जिस दिन प्रतियोगिता होती है उस दिन भाग लेने वाले सभी पुरुष अपने शरीर में मिट्टी और राख लगाकर बाहर आते हैं।

ये भी पढ़ें:
shetphal Village maharashtra
वो गांव जहां हर घर में हैं सांपो के लिए कमरा

प्रतियोगिता में जब सबसे मोटे पुरुष का चुनाव हो जाता है तो उसके आगे एक पवित्र पत्थर से पशु की बलि दी जाती है और इसके बाद ये प्रतियोगिता समाप्त हो जाती है। इस प्रतियोगिता में जो व्यक्ति जीतता है उसे जिंदगी भर के लिए हीरो घोषित कर दिया जाता है।

जो पुरुष इस प्रतियोगिता में भाग लेते हैं वो इन छह महीनों में कभी कभी इतने मोटे हो जाते हैं कि वह चल फिर भी नहीं पाते। ये जनजाति (Bodi Tribe) पशुपालन कर अपना जीवन यापन करती है और इस जनजाति (Bodi Tribe) के पुरुष हमेशा नग्न अवस्था में ही रहते हैं और अपनी कमर में कपास की पट्टी बांधकर रखते हैं। ये अनोखी जनजाति (Bodi Tribe) अपनी इस परंपरा को कई सालों से ऐसे ही निभा रही है जिसमें यहां की सरकार भी कोई हस्तक्षेप नहीं करती है।

ये भी पढ़ें:
Waitomo Glowworm Caves
इस गुफा में जगमगाते हैं तारे, मगर कैसे?

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com