अंकिता हत्याकांड के बाद एक और भाजपा नेता का रिसॉर्ट बना अय्याशी का अड्डा

0
349
Ankita Bhandari Murder Case
Ankita Bhandari Murder Case

Ankita Bhandari Murder Case: नदी किनारे गेस्ट्स को शराब पीने की दी अनुमती, गेस्ट ने बताया एक्स्ट्रा सर्विस के लिए मालिक को दिए है पैसे

Uttarakhand News Desk: पिछले दिनों अंकिता की हत्या (Ankita Bhandari Murder Case) के बाद ये मामला सामने आया था कि यमकेश्वर ब्लॉक के गंगा भोगपुर स्थित वनंत्रा रिसॉर्ट में अंकिता (Ankita Bhandari Murder Case) के ऊपर उनके वीवीआईपी गेस्ट्स को एक्स्ट्रा सर्विस देने का दबाव बनाया जा रहा था, जिसके बाद कार्रवाई करते हुए वनंत्रा रिसॉर्ट पर बुलडोजर (Ankita Bhandari Murder Case) चला दिया गया। अब इस मामले के बाद एक और मामला सामने आ रहा है जो प्रशासन के ऊपर कई सवाल खड़े कर रहा है।

प्रशासन के आदेशों की उड़ी धज्जियां

दरअसल अंकिता हत्याकांड (Ankita Bhandari Murder Case) के बाद प्रशासन ने प्रदेश के सभी रिसॉर्ट, होटल व रेस्टरां की जांच के आदेश दिए थे, जिसके बाद प्रशासन की ओर से कई जगहों पर जांच की भी जा रही थी, लेकिन यमकेश्वर ब्लॉक में इस आदेश की धज्जियां उड़ती साफ दिखाई दे रही है।

हेंवल नदी का किनारा बना अय्याशी का अड्डा

आपको बता दें कि यमकेश्वर ब्लॉक के जोगियाणा ग्राम सभा में हेंवल नदी का किनारा अय्याशी का अड्डा बनकर रह गया है। सरकरा के कड़े निर्देशों के बाद भी हेवल नदी के किनारे रिसॉर्ट में ठहरे कुछ लोग नदी किनारे शराब पीते दिखाई दे रहे हैं। सरकार का आदेश है कि गंगा नदी के किनारे और गंगा नदी की सहायक नदी के किनारे से निश्चित दूरी पर ही रिसॉर्ट का निर्माण किया जा सकता है लेकिन कई रिसॉर्ट्स द्वारा इन आदेशों की अवेहलना की जा रही है।

ये भी पढ़े:
Bhadohi Fire
दुर्गा पंडाल में लगी भयानक आग, झुलसे 64 लोग

हेंवल नदी किनारे बैठकर शराब पीते लोग, वायरल हुआ वीडियो

दरअसल शनिवार से सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें रिसॉर्ट में ठहरे कुछ लोग हेंवल नदी के किनारे शराब पीते दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो को बना रहे व्यक्ति द्वारा जब रिजॉर्ट के कर्मचारी से पूछा गया कि ये रिसॉर्ट किसका है, तो कर्मचारी द्वारा बताया गया है कि ये रिसॉर्ट एक जनप्रतिनिधि का है और इसे दिल्ली के एक व्यक्ति को लीज पर दिया गया है।

वहीं जब रिसॉर्ट में ठहरे गेस्ट्स से पूछा गया कि वो किसकी परमिशन से नदी किनारे बैठकर शराब पी रहे हैं तो उन्होंने बताया कि रिसॉर्ट के मालिक द्वारा उन्हें यहां शराब पीने की परमिशन दी गई है और इसके लिए उन्होंने पैसे भी दिए हैं।

इस वाक्य के बाद ये साफ है कि एनजीटी के आदेशों का हेंवल नदी क्षेत्र में दूर दूर तक कोई भी पालन करता नजर नही आ रहा है। बताया जा रहा है कि जिस रिसॉर्ट की बात हो रही है वो रिसॉर्ट मानक के विपरीत बना हुआ है। वहीं सिर्फ इसी रिसॉर्ट द्वारा मानकों का उल्लंघन नहीं किया जा रहा है बल्कि गैंडखाल से लेकर घटटूगाड़ तक हेंवल नदी किनारे बने सभी रिसॉर्टों द्वारा इन मानकों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।    

वहीं अंकिता हत्याकांड (Ankita Bhandari Murder Case) के बाद प्रशासन द्वारा सभी रिसॉर्ट पर जांच के आदेश दिए गए हैं, इनमें यमकेश्वर विकासखंड क्षेत्र भी शामिल है जिसके लिए अलग अलग टीमों का भी गठन किया गया है। जिसके बाद जो भी रिसॉर्ट मानकों के विरुध पाया गया उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी, इसके साथ ही संबंधित मामले में भी संज्ञान लिया जाएगा।   

ये भी पढ़े:
Gurugram Building Collapse
गुरुग्राम में इमारत का एक हिस्सा ढहा, दबे कई मजदूर

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com