पत्नी के चले जाने के बाद बुजुर्ग ने किया कुछ ऐसा जो बनी मिसाल

0
357
Tapas Shandilya
Tapas Shandilya

Tapas Shandilya: पती ने पत्नी के मरने के बाद बनवाई उसकी लाखों की प्रतिमा

Tapas Shandilya: आपने हीर- रांझा से लेकर लैला- मजनु की प्रेम कहानी के बारे में तो बहुत सुना होगा लेकिन आज आपको एक ऐसी प्रेम कहानी के बारे में बताएंगे जिसे देखकर हर कोई हैरान है। ये प्रेम कहानी है एक बुजुर्ग दम्पत्ति (Tapas Shandilya) की जो हर दंपत्ति के लिए एक मिसाल बन रही है।

प्यार का ये अटूट नमूना पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकता में देखने को मिला है जहां एक बुजुर्ग दंपत्ति (Tapas Shandilya) में से जब पत्नी की मृत्यु हो गई तो पति ने कुछ ऐसा किया जिसे देख हर कोई हैरान है। इस बुजुर्ग का नाम है तापस शांडिल्य (Tapas Shandilya) जिन्होंने अपनी पत्नी को कोरोना काल में खो दिया था।

तापस की पत्नी की मौत 4 मई 2021 में हुई थी जिसके बाद तापस (Tapas Shandilya) ने कुछ ऐसा किया जो सबके बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। पत्नी के चले जाने के बाद तापस ने अपने घर में ही अपनी पत्नी इंद्राणी की एक प्रतिमा बनवाई जिसकी कीमत करीबन 2.5 लाख रुपय है।

ये भी पढ़ें:
Suicide Plant
इस पौधे को छूने के बाद क्यों करते हैं लोग आत्महत्या?

ये प्रतिमा सिलिकॉन की बनी हुई है जो दिखने में बिलकुल एक जीवित इंसान की तरह दिखाई देती है। तापस (Tapas Shandilya) ने अपनी पत्नी की याद में उनकी ये प्रतिमा बनवाई थी। तापस (Tapas Shandilya) का कहना है कि वह अपनी पत्नी से बेहद प्यार किया करते थे और जब उनकी पत्नी की मौत हुई तो वह पूरी तरीके से टूट चुके थे जिसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी के आस पास होने के ऐहसास को बरकरार रखने के लिए उनकी ये प्रतिमा बनवाई।

तापस (Tapas Shandilya) की पत्नी की ये प्रतिमा आज भी झूले में बैठी दिखाई देती है जो उनकी पसंदीदा जगह थी और तापस ने पत्नी की इस प्रतिमा को उनकी पसंदीदा साड़ी व सोने के आभूषण पहनाए हुए हैं। तापस (Tapas Shandilya) रोज अपनी पत्नी के बाल बनाते हैं, उनसे बाते करते हैं और ऐसा करने से उन्हें अपनी पत्नी के आस पास होने का ऐहसास होता है।

इस प्रतिमा को जिस किसी ने भी देखा उसे ऐसा लगा मानों कोई जिंदा इंसान वहां बैठा हो। कई मीडिया रिपोर्स के मुताबिक इस प्रतिमा का वजन करीबन 30 किलो तक है, वहीं नव भारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक उनकी पत्नी की मृत्यु से कुछ समय पहले वह दोनों मायापुर के इस्कान टेम्पल में गए थे, वहां उन्होंने भक्तिवेदांत स्वामी की ऐसी ही सजीव प्रतिमा देखी थी जो दोनों को ही बाहद पसंद आई थी।

इस प्रतिमा को देखने के बाद तापस की पत्नी ने उनसे कहा कि उनके मरने के बाद उनकी भी ऐसी ही प्रतिमा बनवाएं। इंद्राणी ने यह बात मजाक में बोली थी लेकिन तापस (Tapas Shandilya) ने अपनी पत्नी की याद में उनकी ऐसी ही प्रतिमा बनवा दी और ऐसा करके उन्होंने एक सच्चे प्यार की मिसाल दे डाली।   

ये भी पढ़ें:
Gold Rain in India
जब आसमान से होने लगी सोने की बारिश

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com