अपने ही लोगों का मांस खाने पर क्यों मजबूर हुए यहां के लोग?

Famine in Ukraine
Famine in Ukraine

Famine in Ukraine: ऐसा अकाल जिसे आजतक कोई नहीं भुला पाया

Famine in Ukraine: जब भी किसी देश में अकाल (Famine in Ukraine) पड़ता है तो वहां सबसे पहले तो भुखमरी फैलती है, खाने को लेकर लोगों में लड़ाइयां होती हैं, सरकार के खिलाफ प्रदर्शन होता है, लेकिन आपको आज एक ऐसे देश के बारे में बताएंगे जहां अकाल पड़ने पर ऐसा कुछ नहीं हुआ, बल्कि यहां के लोगों ने खुद ही अपने खाने का इंतजाम कर दिया।

अकाल (Famine in Ukraine) का ऐसा भयानक रूप आपने कभी नहीं देखा होगा। यहां जिंदा रहने के लिए लोगों ने इंसानी मांस ही खाना शुरू कर दिया था। बिल्कुल सही सुना आपने, ये इंसानी मांस खाने की खबर जैसे ही सभी देशों को हुई तो सभी दंग रह गए और देश विदेश में खौफ का मंजर फैल गया। आज आपको इसी देश के बारे में बताएंगे जहां अकाल पड़ने पर लोग इंसानी मांस खाने से भी कतराए नहीं, बल्कि इनका कहना था कि इन्हें इंतानी मांस स्वादिष्ट लग रहा है।

ये भई पढ़ें:
Black Magic Village
यहां के बच्चे तक जादू से कर सकते हैं आपको गायब

1932 से 1933 का दौर चल रहा था, यूक्रेन में भयानक अकाल (Famine in Ukraine) की स्थिती पैदा हो गई थी। लोगों के पास खाने के लिए कुछ नहीं था। कई लोगों की इस अकाल में भुखमरी के कारण मृत्यु हो गई, वहीं कई लोगों ने अपनी जान बचाने के लिए ऐसा तरीका निकाला जिसे देख सभी दंग रह गए।

देश में पड़े इस अकाल (Famine in Ukraine) से बचने के लिए लोगों ने एक दूसरे को ही खाना शुरू कर दिया। वहीं जिन लोगों ने अपनी जान बचाने के लिए उस समय इंसानी मांस खाया उनका कहना था कि इंसानी मांस बहुत स्वादिष्ट था। इसके बाद पुलिस द्वारा करीबन 2500 लोगों को गिरफ्तार किया गया क्योंकि यह लोग उस वक्त इंसानी मांस खा रहे थे।

पुलिस द्वारा पूछे जाने पर कि यह लोग इंसानी मांस क्यों खा रहे थे तो उन लोगों ने कहा कि उन्हे इंसानी मांस बहुत स्वादिष्ट लग रहा है। अब इसके पीछे की वजह उनकी भूख थी या फिर सचमुच इंसानी मांस इतना टेस्टी था ये उन्हें नहीं मालूम था। इन लोगों द्वारा इंसानी मांस खाने पर देश में एक खैफनाक स्थिति पैदा हो गई थी। जिसके बाद से इस अकाल (Famine in Ukraine) को कोई भी देश कभी नहीं भुला पाया।

ये भई पढ़ें:
Howrah Bridge
हावड़ा ब्रिज से जुड़े वो राज़, जिनकी आपको भनक तक नहीं होगी

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com