भर्ती घोटाले को लेकर Chitai Golu Devta Mandir में न्याय के लिए पहुंचे युवा, ये लिखा अर्जी में

0
137

अल्मोड़ा ब्यूरो- Chitai Golu Devta Mandir में गुरुवार को कुछ युवा हताशा और निराशा के भाव से भगवान गोलज्यू देवता से न्याय मांगने पहुंच गये। उत्तराखंड भर्ती घोटाले और बैक डोर से भर्ती के विरोध में इन युवाओं ने गोलज्यू देवता को अर्जी लिखकर दोषियों पर कार्रवाई की बात कही।

Chitai Golu Devta Mandir

ये लिखा पीड़ित युवाओं ने अपनी अर्जी में

Chitai Golu Devta Mandir जहाँ न्याय के लिए हर कोई पहुंचता है। बेरोजगारी से जूझ रहे कुछ युवा गुरुवार को न्याय के लिए गोलज्यू देवता की शरण में पहुंच गये। इन युवाओं ने Chitai Golu Devta Mandir में देवता के नाम पर कुमाऊंनी में एक अर्जी लिखी। यह अर्जी बच्चों और उनके माता-पिता के नाम पर लिखी गई। इसमें इन युवाओं ने लिखा है

हे गोलज्यू देवता, देवभूमि में ये कैसा अन्याय हो रहा है। सालों- सालों से मेहनत करने वाले गरीब बच्चे आज रोजगार के लिए परेशान है। बड़े- बड़े लोगों और नेताओं ने अपने बच्चे और रिश्तेदारों को हर जगह फिट कर दिया है। इतने साल नौकरी के पीछे बर्बाद कर के भी आज दो रोटी का भी जुगाड़ नहीं है। हमारा दर्द सुनने वाला कोई नहीं है, हम क्या करें, कहां जाएं।

 हे गोलू देवता अब तुम्हीं न्याय करना। इस घोटाले में जितने भी लोग शामिल हैं उनको तुम ही दंड देना। गरीब और मेहनती बच्चों को सताने वालों का हिसाब तुम्हीं करना। इस देवभूमि को लूट- लूट कर हमे बर्बाद करने वालों का हिसाब करना। हे गोल्जू महाराज हमारा दर्द सुनो और न्याय करो

Chitai Golu Devta Mandir

न्याय के लिए आते हैं Chitai Golu Devta Mandir

गोलज्यू देवता जिन्हें गोलू देवता भी कहते हैं, उन्हें उत्तराखंड में न्याय का देवता कहा जाता है। जिसे कहीं न्याय नहीं मिलता है वो गोलज्यू देवता की शरण में आ जाता है। साथ ही यह भी कहा जाता है कि जो भी यहां न्याय मांगता है गोलज्यू देवता उसे कभी निराश नहीं करते हैं, उसके साथ इंसाफ करते हैं। इसलिए ही गुरुवार को इन पीड़ित युवाओं ने भी Chitai Golu Devta Mandir पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई है।

Chitai Golu Devta Mandir

ये कहना है इन युवाओं का

Chitai Golu Devta Mandir पहुंचे इन युवाओं का कहना है कि लंबे समय से वे सरकारी नौकरी कर रहे हैं लेकिन इस तरह से घोटाले कर के उनकी मेहनत बर्बाद हो रही है। यूकेएसएससी पेपर लीक होने पर उन्हें गहरा झटका लगा है। आज वे हताश और निराश हैं कि कैसे आगे की तैयारी करें। साथ ही नेताओं और अधिकारियों पर निशाना साधते हुए इन्होंने कहा कि किसी का भी अधिकार नहीं है कि वे उनके भविष्य से खिलवाड़ करे।

ये भी पढ़ें…

Car Accident In Uttarakhand:  कार गहरी खाई में गिरी, तीन की मौत, एसडीआरएफ मौके पर