बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर में अब नहीं ले जा सकेंगे फोन, जानिए क्या है वजह?

0
359
Char Dham Yatra 2023 SOP

Uttarakhand Devbhoomi Desk: उत्तराखंड में होने वाली चारधाम यात्रा की शुरुआत करने का एलान कर दिया गया है। इसके लिए तैयारियां भी शुरू (Char Dham Yatra 2023 SOP) हो चुकी है। वहीं इसी कड़ी में ऑनलाइन पंजीकरण भी शुरू कर दिए गए हैं। तीर्थयात्री फिलहाल बदरीनाथ और केदारनाथ धाम के लिए पंजीकरण करा सकेंगे। इसके बाद 20 मार्च के बाद गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के लिए पंजीकरण शुरू होंगे।

इस बीच एक खबर सामने आई है कि बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिरों में दर्शन के दौरान तीर्थयात्री फोन नहीं ले जा सकेंगे। इस पर रोक लग सकती है। मंदिर समिति इस प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि इस संबंध में मंदिर समिति मुख्यमंत्री से चर्चा के बाद मानक प्रचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करेगी।

समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने इस बात की (Char Dham Yatra 2023 SOP) जानकारी पुष्टि की है। उनके मुताबिक, पिछले साल बदरीनाथ और केदारनाथ मंदिर में यात्रा के दौरान यू-ट्यूबर और ब्लागर्स की वजह से कई तरह की दिक्कतें आईं। इसके चलते ये फैसला लिया गया।

ये भी पढ़ें:
GST raid in Uttarakhand
इन शहरों के ब्यूटी पार्लरों में कर विभाग ने मारा छापा

Char Dham Yatra 2023 SOP: पुजारियों व कर्मचारियों के दान-दक्षिणा लेने पर भी होगी रोक

वहीं बदरी-केदार मंदिर समिति चढ़ावे में दान राशि की गिनती की पारदर्शी व्यवस्था (Char Dham Yatra 2023 SOP) बनाने पर भी विचार कर रही है। जो पूरी तरह से सीसीटीवी कैमरे की नजर में होगी। बताया गया है कि इसके लिए सरकारी अधिकारी को भी नियमित रूप से तैनात किया जाएगा।

ये भी पढ़ें:
Chardham Yatra 2023
इस दिन से शुरू होगा यमुनोत्री व गंगोत्री धाम के लिए पंजीकरण

इसके अलावा मंदिर समिति के पुजारियों व कर्मचारियों पर दर्शन के दौरान श्रद्धालुओं से दान-दक्षिणा लेने पर भी रोक लगने की उम्मीद है। बता दें कि पिछली बार मंदिर समिति को 65 करोड़ रुपये का चढ़ावा प्राप्त हुआ था।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com