19 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद होंगे बदरीनाथ धाम के कपाट

0
85
Badrinath Temple

Uttarakhand Devbhoomi Desk: बदरीनाथ धाम (Badrinath Temple) की यात्रा अपने अंतिम दौर में चल रही है। ऐसे में यह खबर सामने आई है कि 19 नवंबर शनिवार को श्री बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए विधि-विधान से बंद किए जाएंगे। जानकारी मुताबिक धाम के कपाट 3 बजकर 35 मिनट पर बंद कर दिए जायेंगे। वहीं इस अवसर पर 19 नवंबर को चमोली जिले में अवकाश रहेगा। यहां सभी स्कूलों की छुट्टी रहेगी और सरकारी, अर्द्धसरकारी कार्यालय बंद रहेंगे। इस दिन स्थानीय श्रद्धालु भी कपाट बंद होने के दौरान बदरीनाथ के दर्शन कर सकेंगे।

यह भी पढ़े:
STF Arrested Gangster
STF को 2 इनामी बदमाशों को पकड़ने में मिली सफलता

Badrinath Temple: इतने तीर्थयात्री कर चुके हैं दर्शन

बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर (Badrinath Temple) समिति के मीडिया प्रभारी डॉ. हरीश गौड़ ने बताया कि बदरीनाथ धाम में अभी तक 17 लाख 34 हजार 561 तीर्थयात्री बदरीनाथ के दर्शन कर चुके हैं। यहां मौसम बदलते ही तापमान और कम होता जा रहा है, इसके बावजूद भी श्रद्धालुओं का जोश कम होने का नाम नहीं ले रहा है। देश के कोने-कोने से श्रद्धालु भगवान बद्री विशाल के धाम पहुँच रहे हैं। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में और ठंड बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़े:
cm yogi adityanath
सीएम योगी आदित्यनाथ ने 39000 आवासों के लाभार्थियों को सौंपी घर की चाभी

बदरीनाथ धाम (Badrinath Temple) के कपाट बंद होने की प्रक्रिया-

  • 15 नवंबर को भगवान गणेश के मंदिर के कपाट बंद होंगे।
  • 16 नवंबर को आदिकेदारेश्वर मंदिर के कपाट बंद होंगे।
  • 17 नवंबर को खड़क पुस्तकों को गर्भगृह में रख वेद ऋृचाओं का वाचन बंद होगा।
  • 18 नवंबर को मां लक्ष्मी गर्भगृह में विराजमान होंगी।
  • 19 नवंबर को बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे।

इससे पहले भैया दूज के पावन अवसर पर यानी 27 अक्‍टूबर को सुबह ठीक आठ बजकर 30 मिनट पर पूरे विधि विधान से केदारनाथ धाम के कपाट बंद हुए थे। बता दें कि इस वर्ष केदारनाथ में रिकार्ड यात्री दर्शन के लिए पहुँचे थे।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com