प्रदर्शनकारी पहलवानों ने लिया ये बड़ा फैसला, अब गंगा में प्रवाहित करेंगे अपनी मेहनत

0
194
WRESTLERS PROTEST

Uttarakhand Devbhoomi Desk: भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का प्रदर्शन (WRESTLERS PROTEST) अभी खत्म नहीं हुआ है। साक्षी मलिक ने एक वीडियो पोस्ट कर साफ किया है कि उनका विरोध प्रदर्शन अभी भी चल रहा है और वह जल्द ही अपनी अगले कदम का खुलासा करेंगी। इस बीच, बजरंग पुनिया और विनेश फोगट ने ट्विटर पर पोस्ट करके ये घोषणा की कि सभी प्रदर्शनकारी पहलवान आज शाम 6 बजे अपने-अपने पदक गंगा में प्रवाहित करेंगे।

WRESTLERS PROTEST: पहलवानों ने ट्वीट कर दी जानकारी

बताया जा रहा है कि सभी प्रदर्शनकारी पहलवान (WRESTLERS PROTEST) आज शाम छह बजे हरिद्वार कूच कर अपने-अपने मेडल गंगा में प्रवाहित करेंगे। इसके बाद पहलवान का जल्द ही इंडिया गेट पर आमरण अनशन की तैयारी शुरू कर देंगे। इस बात की जानकारी बजरंग पुनिया और विनेश फोगाट ने अपने-अपने ट्वीट में दी। ट्वीट में कहा गया है, हमें ये मेडल नहीं चाहिए। हम इन्हें गंगा में प्रवाहित कर देंगे। ट्वीट में कहा गया है कि यह मेडल हमारी जिंदगी और आत्मा है, गंगा में बह जाने के बाद जीने का कोई मतलब नहीं है। इसलिए मेडल को बहाकर हम इंडिया गेट पर अनशन पर बैठ जाएंगे और भूखे मर जाएंगे।

ये भी पढ़ें:
Uttarakhand Weather
अगले दो दिन बिगड़ा रहेगा मौसम का मिजाज, मौसम विभाग का अलर्ट जारी

WRESTLERS PROTEST: जानें क्या है ये मामला और कब से चल रहा है आंदोलन

कुश्ती में देश के लिए पदक जीत चुके बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट और साक्षी मलिक समेत (WRESTLERS PROTEST) कई पहलवानों ने 18 जनवरी को पहली बार धरने पर बैठे। उन्होंने भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह व अन्य पर महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न, क्षेत्रवाद और छेड़छाड़ जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। इसके अलावा पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह को गिरफ्तार करने की मांग की।

विरोध करने वाले पहलवानों ने रविवार, 28 मई को जंतर मंतर से नए संसद भवन तक मार्च निकालने की घोषणा की थी। हालांकि इस दिन नई संसद का उद्घाटन होना था। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने मार्च को मंजूरी नहीं दी थी। इस बीच जंतर-मंतर पर भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती कर बेरिकेडस लगाये गए थे। नए संसद भवन से तीन किलोमीटर दूर जंतर मंतर से मार्च करते हुए पुलिस ने पहलवानों को रोकने की कोशिश की। इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच धक्का मुक्की हो गई। बजरंग पुनिया, विनेश फोगट और साक्षी मलिक सहित कई पहलवानों को हिरासत में लिया गया था।

ये भी पढ़ें:
Religious Conversion Case
‘द केरला स्टोरी’ की तरह है देहरादून के इस महिला की कहानी

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com