उत्तराखंड बाल विधानसभा का दूसरा सत्र गैरसैण में, इस दिन के लिए मिली मंजूरी

0
211
Uttrakhand baal vidhansabha

Uttarakhand Devbhoomi Desk: भारत की लोकतान्त्रिक व्यवस्था में बच्चों और युवाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग (Uttrakhand baal vidhansabha) द्वारा साल 2014 में राज्य में बाल विधानसभा की स्थापना की गई थी। इस बार बाल विधानसभा का दूसरा सत्र ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण में होने जा रहा है।

बता दें कि इस बार बाल विधानसभा का सत्र गैरसैण में करवाने के लिए उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष डा. गीता खन्ना ने वर्तमान में विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडुरी को पत्र लिख अनुमति मांगी थी। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने आयोग को मंजूरी देते हुए 5-6 जून को गैरसैण में बाल विधानसभा का दूसरा सत्र कराने की बात कही है।

ये भी पढ़ें:
Lumpy Virus in Uttarakhand
यहां फिर फैल रहा लंपी वायरस का कहर, पशुपालक परेशान

Uttrakhand baal vidhansabha: उत्तराखंड बाल विधानसभा क्या है?

इसके अलावा इस बार सत्र की मुख्य अतिथि ऋतु खंडुरी होंगी। उनके अनुसार ये कार्यक्रम (Uttrakhand baal vidhansabha) बच्चों को छोटी उम्र से ही देश की लोकतान्त्रिक व्ययवस्था से जोड़ने और देश की कार्यप्रणाली के प्रति जागरूक करने का काम करेगा। गैरसैण में होने वाले इस सत्र में प्रदेश के विभिन्न बाल विधायक प्रतिभाग करेंगे और राज्य में हो रही विभिन्न समस्याओं और मुद्दों पर चर्चा करेंगे।इसके साथ ही साथ बेहतरीन कार्य करने वाले विध्यकों को सम्मानित भी किया जाएगा।

साल 2014 में राज्य के बाल संरक्षण आयोग ने लोकतंत्र और कार्यपालिका में बच्चों को सक्रिय रूप से (Uttrakhand baal vidhansabha) भागीदार बनाने के लिए बाल विधानसभा का गठन किया था। इसमें उत्तराखंड के सभी 13 जिलों से 70 बच्चों को चिन्हित किया जाता है जिनकी आयु 14 से 18 वर्ष के बीच में होती है और इन्हें बाल विधायक बनाया जाता है। जो कि आयोजित विधानसभा सत्र मे विभिन्न समस्याओं पर चर्चा करेंगे।

ये भी पढ़ें:
Accident in Uttarakhand
अनियंत्रित होकर नदी में गिरी कार, कई लोगों की मौत

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com