कालिंदी ट्रैक पर 14 ट्रैकर्स फंसे, सेना की ली जाएगी मदद

0
270
uttrakashi news

Uttarakhand Devbhoomi Desk:उत्तरकाशी में जिला आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते मई के अंतिम सप्ताह में एक 14 सदस्यीय दल गंगोत्री(uttrakashi news) से कालिंदी ट्रैक की ट्रेकिंग के लिए रवाना हुआ था। इस दौरान ट्रैक के बेस कैंप में पहुंचते ही बर्फबारी शुरू हो गई थी और बहुत ज्यादा बर्फबारी होने के कारण दल वहां फंस गया था।

बता दें कि कालिंदी(समुद्र तल से 19 हजार फीट से अधिक ऊंचाई पर स्थित) ट्रैक पर गए दल में शामिल एक गाइड की मौत हो चुकी है और दल में शामिल बाकी 14 ट्रैकर्स भी वहीं फंसे चुके हैं। अब ऐसे में संबंधित ट्रैकिंग एजेंसी ने जिला प्रशासन और राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग से फंसे हुए ट्रैकर्स को सेना के हेलिकॉप्टर की मदद से सुरक्षित रेस्क्यू किए जाने के लिए मदद की गुहार लगाई है। इसके बाद आपदा प्रबंधन विभाग(uttrakashi news) ने इसकी जानकारी शासन को दे दी है। वहीं एजेंसी अपने स्तर पर भी कार्यरत है इसलिए एजेंसी की एक रेस्क्यू टीम सोमवार को ट्रैक पर खोए हुए हुए दल की खोजबीन के लिए रवाना हो गई।

uttrakashi news

uttrakashi news:कालिंदी ट्रैक की विषमताएं

बता दें कि ये कालिंदी ट्रैक गंगोत्री पर्वत श्रेणी से होकर सीधे बद्रीनाथ निकलता है लेकिन इस क्षेत्र में अत्यधिक होने वाली बर्फबारी के कारण वहां की भौगोलिक परिस्थितियां बहुत खराब हो जाती हैं। संबंधित घटना में ट्रैकिंग एजेंसी ने जिलाधिकारी उत्तरकाशी(uttrakashi news) को दल में शामिल एक गाइड की मौत होने की सूचना दी है। साथ ही साथ ये भी बताया गया है कि  अन्य लोग भी अभी तक वापस नहीं लौटे हैं और ट्रैकिंग एजेंसी की ओर से सभी ट्रैकर्स को सुरक्षित रेस्क्यू कर लाने के लिए सेना के हेलिकॉप्टर सेवा की मांग की गई है।

 

सेना की ली जाएगी मदद

जिला आपदा प्रबंधन के अनुसार शासन की नियमावली के मुताबिक 19 हजार फीट की ऊंचाई पर प्राइवेट हेलिकॉप्टर जाने की अनुमति नहीं हैं। आपातकालीन स्थिति में सेना के हेलिकॉप्टर की सहायता ली जाती है। जिसकी मांग शासन से की गई है। जिला आपदा प्रबंधन विभाग(uttrakashi news) के अनुसार बीते रविवार को देर शाम एक गाइड की मौत और 14 ट्रैकर्स के फंसे होने की सूचना प्रशासन को मिली है।

इस मामले मे गंगोत्री नेशनल पार्क के उपनिदेशक आरएन पांडेय ने भी कालिंदी ट्रैक पर एक गाइड की मृत्यु होने की खबर की पुष्टि की है। इसके अलावा सोमवार को संबंधित ट्रैकिंग एजेंसी की चार सदस्यीय टीम रेस्क्यू के लिए रवाना हो गई। एक दल आज सुबह रेस्क्यू के लिए रवाना हुआ|

ये भी पढ़ें-

Uttarakhand Weather

राज्य के इन इलाकों में आज भी बारिश के आसार