Uttarakhand Disaster: बरसाती गदेरे में गिरने से बाल- बाल बचे पुरोला विधायक दुर्गेश्वर लाल

0
350
Uttarakhand Disaster

उत्तरकाशी (विनीत कंसवाल)- Uttarakhand Disaster को लेकर जितना कहा जाए उतना कम है। यहां बारिश के बाद कैसे हालात हो जाते हैं, आज हम अपनी इस रिपोर्ट में बता रहे हैं। Uttarakhand Disaster के बाद ये हालात हो गये हैं कि कई जगह ग्रामीण अपनी जान हथीले पर रखकर जीवन यापन कर रहे हैं। पुरोला विधायक दुर्गेश्वर लाल जब अपने गांव जा रहे थे तब उन्हें यह हकीकत समझ में आई, जब वे बरसाती गदेरे में गिरने से बाल- बाल बचे।

WhatsApp Image 2022 08 22 at 11.12.10 AM

Uttarakhand Disaster: मोरी ब्लाक का है ये मामला

मामला पुरोला विधानसभा के मोरी ब्लॉक का है। जहां टौंसी घाटी के सीमांत क्षेत्र जखोल में सांकरी और मोरी तहसील को जोड़ने वाले फफराला खड्ड में बनी पुलिया इस बरसात में बह गई। दो हफ्ते पहले भारी बारिश के कारण यह पुलिया बह गई थी। तब से एक लकड़ी की बल्ली के सहारे ग्रामीणों को बरसाती गदेरा पार करना पड़ रहा है।

स्कूली बच्चे भी जान हथेली में रखकर गुजरते हैं इससे

Uttarakhand Disaster की इस हकीकत में हम आप को बता रहें हैं कि इस पुलिया के बहने से हर रोज यहां से स्कूली बच्चे भी गुजरते हैं। इन बच्चों हर रोज स्कूल से आते- जाते अपनी जान हथेली में रखकर एक लकड़ी की बल्ली को पार करना पड़ता है।

Uttarakhand Disaster

Uttarakhand Disaster: जब बाल- बाल बचे विधायक जी

पुरोला के स्थानीय विधायक दुर्गेश्वर लाल भी इसे क्षेत्र के हैं। विधायक जी को अपने गांव फिताड़ी जा रहे थे। तब उन्हें भी इस गदेरे को लकड़ी की बनी बल्ली के सहारे पार करना पड़ा। जैसे- कैसे खिसक- खिसक कर उन्होंने बल्ली तो पार कर दी, लेकिन बल्ली से उतरते समय वे फिसल गये। गनीमत रही वहां खड़े एक व्यक्ति ने उन्हें पकड़ लिया, नहीं तो विधायक जी किसी बड़े हादसे के शिकार हो सकते थे।

Uttarakhand Disaster: दो दर्जन गांव प्रभावित हैं पुलिया के बहने से

मोरी तहसील और सांकरी को जोड़ने वाली फफराल खड्ड पर बनी पुलिया के बहने से पंचगाई और बाडसू पट्टी के दो दर्जन अधिक गांव प्रभावित हुए हैं। जब तक यहां पर स्थाई पुलिया का निर्माण नहीं होगा तब तक ऐसे ही यहां जान- हथेली पर रखकर गदेरा पार करना पड़ेगा।

विधायक ने पीडब्ल्यूडी को दिये निर्देश

विधायक दुर्गेश्वर लाल को जब खुद लकड़ी की बनी पुलिया पार करनी पड़ी तब उन्हें समझ में आया कि कैसे यहां ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। फिर विधायक ने पीडब्ल्यूडी पुरोला के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि जल्द ग्रामीणों की समस्या का समाधान किया जाये। विधायक के निर्देश के बाद यहां पर लकड़ी का एक अस्थाई पुल का निर्माण शुरू हो गया है।

UKSSSC Paper Leak : अब ये सरकारी Teacher STF ने दबोचा, ऐसे कारवाई थी नकल

Uttarakhand Disaster: बरसाती गदेरे में गिरने से बाल- बाल बचे पुरोला विधायक दुर्गेश्वर लाल