UKSSSC Paper Leak : अब ये सरकारी Teacher STF ने दबोचा, ऐसे कारवाई थी नकल

0
316
UKSSSC Paper Leak : अब ये सरकारी Teacher STF ने दबोचा, ऐसे कारवाई थी नकल

देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की दिसंबर 2021 में हुई भर्ती परीक्षा के पेपर लीक मामले में लगातार उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स नकल माफिया गिरोह की धरपकड़ कर रही है। UKSSSC Paper Leak मामले में आज रविवार को एसटीएस ने बागेश्वर के एक सरकारी स्कूल में तैनात शिक्षक को पुख्ता साक्ष्य और सबूत मिलने के बाद अरेस्ट किया है।

इससे पहले UKSSSC Paper Leak मामले में 21 आरोपी अरेस्ट हो चुके हैं। आज UKSSSC Paper Leak मामले में 22वीं गिरफ्तारी एसटीएफ ने अल्मोड़ा जिले से की है। अल्मोड़ा निवासी यह शिक्षक राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मलसूना, कांडा, जनपद बागेश्वर में तैनात है।

UKSSSC Paper Leak Teacher arrest

UKSSSC Paper Leak : हाकम से जुड़ा कनेक्शन

UKSSSC Paper Leak मामले में आरोपी शिक्षक का कनेक्शन पूर्व में गिरफ्तार जिला पंचायत सदस्य उत्तरकाशी हाकम सिंह रावत से बताया जा रहा है। उत्तराखंड एसटीएफ की टीम ने काफी लंबी पूछताछ के बाद आरोपी सरकारी गुरु को अरेस्ट कर लिया है। आरपी छात्रों को नकल करवाने के लिए धामपुर लेकर आया था। फिर सभी को परीक्षा सेंटर पर अगले दिन छोड़ कर आया था।

UKSSSC Paper leak अंकित रमोला गिरफ्तार

UKSSSC scam

लंबी पूछताछ और पुख्ता सबूत मिलने पर किया अरेस्ट

UKSSSC Paper Leak मामले में गहन पूछताछ के बाद आरोपी शिक्षक जगदीश गोस्वामी पुत्र गोपाल बाबू गोस्वामी निवासी चांदी खेत पोस्ट ऑफिस गनाई थाना चैखुटिया जिला अल्मोड़ा को STF ने अरेस्ट किया है। आरोपी राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मलसूना, कांडा जिला बागेश्वर में शिक्षक के पद तैनात है।

STF अब UKSSSC की इन 3 EXAM की भी करेगी जांच, जालसाजों की बढ़ी धड़कने

ऐसे करवाई नकल

अरेस्ट आरोपी शिक्षक ने अपने इलाके और आसपास के छात्रों को एकत्रित किया और दिसंबर 2021 में हुई उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षा की पहली रात वाहन से धामपुर ले गया। यहां जाकर प्रश्न पत्र और उत्तर सभी अभ्यर्थियों को याद करवाए गए। इसके बाद वापस आकर सभी को परीक्षा केंद्रों पर छोड़ कर गया था।

यह भी पढ़ें: UKSSSC पेपर लीक : STF ने एक और माफिया दबोचा, 21 हो चुके अरेस्ट

यह भी पढ़ें: UKSSSC Paper leak: हाकम सिंह का करीबी गिरफ्तार, अभ्यर्थियों को नकल सेंटरों तक पहुंचाता था अंकित