देहरादून, ब्यूरो। एक दिन पहले ही एसडीएम पुरोला सोहन सिंह सैनी और विधायक के बीच सामने आया विवाद ने तूल पकड़ लिया है। शासन ने भी मामले का संज्ञान लेते हुए आज रविवार को ही एसडीएम पुरोला सोहन सिंह सैनी को पुरोला से हटा दिया है। फिलहाल उन्हे आयुक्त गढ़वाल पौडी अटैच कर दिया गया है ।  अब जल्द नया उप जिलाधिकारी पुरोला को मिलेगा। देखें तबादला आदेश….

बता दें कि एक दिन पहले ही शनिवार को ही एसडीएम सोहन सिंह सैनी ने पुरोला थाने में तहरीर दी कि मुझे विधायक पुरोला दुर्गेश्वर लाल से जान का खतरा है। वहीं, दूसरी ओर विधायक पुरोला ने बताया कि एसडीएम को 21 मई को लोनिवि गेस्ट हाउस में बुलाया था लेकिन वह नहीं आए और अपना फोन भी बंद कर दिया। इसके बाद उन्होंने एक दिन पहले ही शनिवार को उनका वाहन एनएच 123 पर जुड्डो में देखा था उसके बाद उन्होंने एसडीएम को फोन किया तो वह क्षेत्र में ही होने की बात कह रहे थे। इस संबंध में डीएम उत्तरकाशी से बात की गई तो उन्होंने भी कहा कि एसडीएम छुट्टी पर नहीं हैं। ऐसे में सरकारी वाहन को पुरोला क्षेत्र की बजाय अपने निजी कार्य के लिए इस्तेमाल करने के साथ ही तमाम अतिक्रमण के मामलों में बेवजह लोगों के घर तोड़ने के भी आरोप एसडीएम पर लगे हैं। एक दिन पहले ही एसडीएम की पिछले साल मुख्यमंत्री उत्तराखंड को की गई शिकायत का एक पत्र भी सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। इस पत्र में तमाम तरह के आरोप एसडीएम पर लगाए गए हैं। आप भी देखें वायरल पत्र….

अति घूसखोर कपटपूर्ण उपाजिलाधिकारी पुरोला के व्यवहार एवं कार्य के सम्बन्ध में।

महोदय, कृपया उपर्युक्त विषयक अवगत तहसील पुरोला में तैनात उपजिलाधिकारी श्री सोहन सिंह सैनी कार्य एवं व्यवहार के सम्बन्ध में तहसील पुरोला एवं मोरी की आम जनता एवं जनप्रतिनिधि भारी रोष करते हुये अवगत कराना चाह रही है

01. श्री सिंह सैनी उपजिलाधिकारी पुरीला तहसील पुरोला जनपद उत्तरकाशी में पूर्व 2018-19 से एक एवं लानी एवं दुवैव्यवहार के व्यक्ति है इनके पास कार्यालय में जाते समय ही किसी भी आम व्यक्ति या जनप्रतिनिधियों के बारे में अपने अधिनस्थ कर्मचारियों होमगार्ड, पी०आर०डी० स्टेनो नायक नाजिर से यह पूछा जाता है कि उक्त व्यक्ति किस पार्टी एवं जाति समुदाय से सम्बन्ध रखता अगर बीजेपी एवं अनुसूचित जाति से सम्बन्ध रखता है, तो उन से यह बता वो कि उपजिलाधिकारी महोदय, अभी किसी जरूरी काम से व्यस्त है। बाहर प्रतिशा में रहे या अगले दिन नहीं उपस्थित होकर मिले।

02- श्री सोहन सिंह सैनी उपजिलाधिकारी पुरोला एक मनचला रंगीला व्यक्ति है, दूर-दराज क्षेत्रों से आने वाली महिलाओं जो अपने सड़क, बिजली, पानी, पेंशन, आवास, प्रतिकर आर्थिक सहायता आदि कार्यों के सम्बन्ध में मिलने जाती आती है तो यह व्यक्ति क्षेत्र की नौजवान महिलाओं को कहता है कि आप शाम या दिन के समय आवास पर आ जाना वहां पर आपके काम को अच्छे से समझूगा एवं करूंगा तथा महिलाओं पर दबाव बनाता है कि मैं इस तहसील का मालिक हूं कुछ भी कर सकता एवं करवा सकता हू महिलओं से मनचली बाते करता है। कहता है कि मैं आपका काम करूंगा लेकिन मेरे लिए दाल, राजमा, मुर्गा, शहद, जड़ीबूटी सेब, टोपी, मफलर लेकर आओ।

03- श्री सोहन सैनी उपजिलाधिकारी पुरीला तहसील पुरोला एवं नोरी क्षेत्र में ग्राम घमण के दौरान भी क्षेत्र की भोलीमाली जनता से कांग्रेस पार्टी को सहायोग के वोट देने की बात करता है। कांग्रेस पार्टी के साथ जुड़े रहे हो।

04 श्री सोहन सिंह सैनी उपजिलाधिकारी पुरोला द्वारा तहसील पुरोला एवं मोरी क्षेत्र से आयी जनता से आदि लेकर आओ। महोदय से निवेदन है कि श्री सोहन सिंह सैनी का एक प्रशासनिक पद पर रहते हुये क्षेत्रीय जनता के प्रति यह रवैया एवं व्यवहार पोर चिन्ता का विषय है एवं सोचनीय है।

05- तहसील पुरोला एवं मोरी के सभी कर्मचारो खास कर पेशकार, नायव नाजिर, स्टेनों का कहना है कि हमे साबह को पैसे देने पड़ते है, तभी एस०डी०एम० साहब काम करते हैं, नहीं तो किसी भी फाईल को देखते करते नहीं है। हम लोग मजबूर है।

06- तहसील पुरोला एवं मोरी की 02-03 महिलाओं के साथ श्री सोहन सिंह के अवैध सम्बन्ध बने हुये है, जो क्षेत्र की आम जनता एवं बाजारों में चर्चाओं का विषय बना हुआ है।

07- संज्ञान में यह भी आया है कि श्री सोहन सिंह सैनी एस०डी०एम० पुरोला अपनी पूर्व तेनाती समय तहसील लक्सर जनपद हरिद्वारा में भी अपनी इसी कृत्य एवं व्यवहार के लिए जाने जाते गये है। जिस कारण यहां की जनता एवं कर्मचारियों द्वारा भी इनके व्यवहार एवं कृत्य से भारी रोष व्यक्त किया गया है। श्री सोहन सिंह सैनी का उपरोक्त प्रशासनिक पद की गरीमाको भूमिल करता है तथा उत्तराखण्ड शासन से यह अपील की जाती है कि श्री सोहन सिंह को प्रशासनिक पद परगना मजिस्ट्रेट के कृपाचा पद से हटाते हुये इनका स्थानान्तरण तहसील पुरोला जनपद उत्तरकाशी से कुमाल मण्डल के पिथौरागढ़ के दूरस्थ क्षेत्रों में किया जाये।

08- यह कि श्री सोहन सिंह सैनी द्वारा अपने उच्चाधिकारी बल का प्रयोग करते हुये फते पर्वत क्षेत्र के लोगों के खिलाफ अफिम के झूठे मुकदमे दर्ज किये गये है श्री सोहन सिंह में अपने अधिनस्थ राजस्व उप निरीक्षकों के माध्यम से इस क्षेत्र की मोलीमाली जनता के विरूद्ध झूठे मुकदमे दर्ज कराये है, जबकि अफीम की खेती उन लोगों द्वारा नहीं की गयी है। श्री कुलदीप सिंह राणा नायक नाजिर तहसील पुरोला एवं श्री सोहन सिंह उपजिलाधिकारी पुरोला की मिलीभगत होने के कारण जनता को लूटने की साजिश करते हैं।

10 तहसील पुरोला में तैनात भी दो-तीन महिलायें कर्मचारी है, जिनसे श्री सोहन सिंह सैनी मनचली रंगीले बाते करता है तथा उन से अवैध रिश्ते बनाता है, जो पुरोला बाजार में चर्चाओं का विषय बना हुआ है।

अंतः मा० महोदय जी से तहसील पुरोला एवं मोरी की समस्त जनता एवं जनप्रतिनिधिगण अनुरोध करते हैं कि उक्त व्यक्तियों के विरूद्ध शासन स्तर पर कड़ी कार्यवाही करते हुये इनका स्थानान्तरण तत्काल अन्यत्र जनपदों में किया जाये।