गुलदार के हमले से एक और मौत, रानीखेत में एक बुजुर्ग बने गुलदार के शिकार

0
195
Leopard Attacked In Uttarakhand

Uttarakhand News: Leopard Attacked In Uttarakhand: उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में गुलदार के हमले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला रानीखेत के दैना गांव में सामने आया है, जहां गुलदार ने बुजुर्ग व्यक्ति को अपना शिकार बना दिया। 18 घंटे बाद बुजुर्ग व्यक्ति का क्षत विक्षत शव बरामद किया गया।

Leopard Attacked In Uttarakhand: घर के पास ही किया हमला

Leopard Attacked In Uttarakhand

बताया जा रहा है कि रानीखेत तहसील के कालीगाढ़ पट्टी के दैना गांव में मोहन राम जिनकी उम्र 65 वर्ष बताई जा रही है, वे मंगलवार शाम को अपने घर से लगभग सौ मीटर दूर खेत में गये हुए थे। यहां उन्होंने चराने के लिए अपनी गाय छोड़ी हुई थी। तब वे गाय को ही घर लाने के लिए उस खेत में गए। लेकिन जैसे ही वह खेत में पहुंचे तो वहां घात लगाकर बैठे गुलदार ने उन पर हमला (Leopard Attacked In Uttarakhand) कर दिया। जैसे ही गांव वालों को इस बात का पता चला तो गांव में हल्ला मच गया।

Leopard Attacked In Uttarakhand: 18 घंटे बाद मिला शव

Leopard Attacked In Uttarakhand

गुलदार ने हमला (Leopard Attacked In Uttarakhand) करने के बाद मोहन राम को अपने साथ घसीट कर गदेरे की ओर ले गया। जिसके बाद ग्रामीण देर शाम तक बुजुर्ग की खोजबीन करते रहे, लेकिन अंधेरा होने के कारण बुजुर्ग का कोई पता नहीं चला। सुबह होते ही ग्रामीणों ने वन विभाग के साथ मिलकर फिर से बुजुर्ग की खोजबीन शुरू कर दी।

घटना के 18 घंटे बाद गांव से लगभग एक किलोमीटर दूर बुजुर्ग मोहन राम का शव बरामद हुआ। शव झाड़ियों में था और उसे गुलदार ने आधा खाया हुआ था। इस घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने वन विभाग को पहले बुजुर्ग का शव उठाने से मना कर दिया था, जिस पर ग्रामीणों ने वन विभाग के सामने गुलदार को नरभक्षी घोषित करने और पिंजरा लगाने की मांग की। डीएफओ के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने शव को वन विभाग को सौंपा।

ये भी पढ़ें… हाईकोर्ट ने विधानसभा में बैकडोर से हुई भर्ती पर सरकार से मांगा जवाब