अब पहाड़ भी चढ़ गया डेंगू का मच्छर, डॉक्टर समेत 2 मरीजों में पुष्टि, अब तक डेंगू के आ चुके है इतने मामले

0
40
Dengue in Uttarakhand

Dehradun: उत्तराखंड राज्य में डेंगू से राहत नहीं मिल पा रही। बीते मंगलवार को भी 20 व्यक्तियों में डेंगू की पुष्टि हुई है। इनमें सबसे ज्यादा 12 मामले नैनीताल जनपद से हैं। इसके अलावा पौड़ी गढ़वाल में पांच और देहरादून में तीन मामले आए (Dengue in Uttarakhand) हैं।

Dengue in Uttarakhand : पहाड़ चढ़ा डेंगू का मच्छर

अब पहाड़ में भी डेंगू के मामले सामने आ रहे हैं। अल्मोड़ा में डाक्टर समेत 2 मरीजों में बीमारी की पुष्टि हुई है। हालांकि दोनों मरीज मैदान से अल्मोड़ा आए थे, यहां आकर जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। मरीजों में डेंगू की पुष्टि होते ही स्वास्थ्य महकमा भी अलर्ट मोड पर आ गया है।

Dengue in Uttarakhand
दीपावली में घर से लौटे डाक्टर और दिल्ली से आए एक मरीज में डेंगू की पुष्टि हुई है। मरीज का अस्पताल में उपचार चल रहा है, जबकि डाक्टर छुट्टी लेकर हल्द्वानी चले गए हैं। स्थानीय स्तर पर कोई भी डेंगू से पीड़ित मरीज नहीं हैं।

Dengue in Uttarakhand: दीपावली मनाने हल्द्वानी गए थे डाक्टर

अल्मोड़ा जिला अस्पताल के एक डाक्टर दीपावली पर्व मनाने हल्द्वानी गए थे। त्यौहार के बाद ड्यूटी पर लौटे तो अचानक उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। उन्हें बुखार की शिकायत हुई। डेंगू के लक्षण पाए जाने पर अस्पताल में ही उनकी जांच हुई। जांच में रिपोर्ट पाजिटिव निकल गई। डेंगू की पुष्टि होते ही डाक्टर अवकाश पर वापस घर चले गए हैं। अब उनका हल्द्वानी में ही उपचार चल रहा है।

ये भी पढ़ें…  पत्नी के पीटने पर पति ने की PMO से शिकायत, पूछा -क्या यही है नारी शक्ति ?

पहाड़ डेंगू जैसे रोग से अछूते रहते हैं। आम तौर पर मैदानी इलाकों में ही डेंगू के मरीज सामने आते हैं। लेकिन हल्द्वानी और उसके आसपास के इलाकों में हर साल डेंगू मरीज मिलते हैं, मगर पहाड़ी इलाकों में डेंगू मरीजों का मिलने का यह पहला मामला है। हालांकि ये दोनों मरीजों को भी डेंगू का डंक हल्द्वानी और दिल्ली में ही लगने की बात सामने आ रही है। क्योंकि दोनों मरीज इन्हीं इलाकों से अल्मोड़ा आए हैं।

Dengue in Uttarakhand: 2022 में अब तक डेंगू के आ चुके है इतने मामले

प्रदेश भर में 2022 में अब तक डेंगू के 1900 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे अधिक 1309 मामले देहरादून जिले में आए हैं। इस के अलावा हरिद्वार में 268, पौड़ी गढ़वाल में 170, नैनीताल में 107, टिहरी गढ़वाल में 40 और ऊधमसिंह नगर में 28 मामले आ चुके हैं।