Dalit Leader Murder: पोस्टमार्टम में बड़ा खुलासा, दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी थी हत्यारों ने

0
105
Dalit Leader Murder
Dalit Leader Murder

अल्मोड़ा ब्यूरो- अल्मोड़ा के भिकियासैंण में हुए Dalit Leader Murder में बड़ा खुलासा हुआ है। मृतक जगदीश चंद्र की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चौंकाने वाले तथ्य सामने आये हैं। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने कहा कि हत्यारों की क्रूरता की हदें पार कर दी थी। जगदीश चंद्र के शरीर में 25 से 27 गंभीर चोटें थी।

Dalit Leader Murder
Dalit Leader Murder

पोस्टमार्टम के बाद ये कहा डॉक्टर ने

Dalit Leader Murder मामले में मृतक दलित नेता जगदीश चंद्र का आज पोस्टमार्टम किया गया। भारी सुरक्षा बल वहां तैनात की गई थी। पोस्टमार्टम के लिए डॉक्टरों का पैनल बनाया गया था। पोस्टमार्टम करने के बाद डॉक्टर दीप प्रकाश पार्की ने हैरानी जताते हुए Dalit Leader Murder में बताया कि मृतक के पूरे शरीर में चोट थी। उसके शरीर में 25 से 27 गंभीर चोट शरीर के बाहरी हिस्से में थी। हाथ, पैर, कलाई, जबड़े, नाक और छाती की हड्डियां टूटी हुई थी। सिर पर भी गंभीर चोट आई हुई थी। डॉक्टरों ने बताया कि दलित नेता जगदीश की मौत बहुत अधिक चोट लगने के कारण हुई थी। उसके शरीर में हथियार के निशान नहीं मिले।

Almora Crime News
Dalit Leader Murder

Dalit Leader Murder पत्नी गीता ने किया खुलासा

Dalit Leader Murder में मृतक दलित नेता जगदीश चंद्र की पत्नी गीता ने कहा कि उस के सौतेले पिता और सौतेला भाई उनकी शादी के खिलाफ थे। शादी से पहले भी उनके प्रेम प्रसंग को लेकर उन्होंने उसके साथ मारपीट की थी। 17 जून को भी उसे अल्मोड़ा से जबरन ले गये थे और उसकी पिटाई थी और साथ में उसे ऐसा करने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। लेकिन गीता ने परेशान होकर 7 अगस्त को भिकियासैंण में कमरा किराये पर लेकर जगदीश चंद्र के पास आ गई। फिर दोनों ने शादी करने का फैसला लिया और 21 अगस्त को उन्होंने शादी कर दी।

Dalit Leader Murder एसएसपी ने रानीखेत में डेरा डाला

Dalit Leader Murder के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए अल्मोड़ा के एसएसपी प्रदीप राय ने ने रानीखेत में डेरा डाला हुआ है। रानीखेत में अतिरिक्त फोर्स तैनात कर दी गई है। साथ ही सल्ट में भी अन्य थानों से फोर्स बुलाकर तैनात किया गया है।

Dalit Leader Murder मृतक का शव उसके गांव ले जाया गया

दलित नेता जगदीश चंद्र की हत्या के बाद उसका पोस्टमार्टम, नागरिक पोस्टमार्टम हाउस रानीखेत में किया गया। यहां मृतक जगदीश का बड़ा भाई पृथ्वीपाल और भतीजा प्रदीप मौजूद थे। साथ ही जगदीश से प्रेम विवाह करने वाली सवर्ण युवती गीता भी वहां मौजूद रही। पोस्टमार्टम के बाद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ जगदीश चंद्र का शव उसके गांव पनुवाद्योखन, सल्ट ले जाया गया।

ये भी पढ़ें…

Almora Crime News: सवर्ण युवती से शादी करने पर दलित नेता की हत्या, आरोपी गिरफ्तार