उत्तराखंड कांग्रेस को बड़ा झटका, बागेश्वर के वरिष्ठ नेता हुए भाजपा में शामिल..

0
250
Bageshwar Bypoll 2023
Bageshwar Bypoll 2023

Uttarakhand Devbhoomi Desk: उत्तराखंड कांग्रेस को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है, किस्मत कहो या प्लानिंग चुनाव (By Election update) आते ही काँग्रेस के दिन बुरे हो जाते हैं। उत्तराखंड में पूर्व कैबिनेट मंत्री बागेश्वर से विधायक रहे चंदन राम दास के निधन के बाद वहाँ उपचुनाव होने वाले हैं।

उपचुनाव से ठीक पहले जब नामांकन चल रहा है तो बागेश्वर में उत्तराखंड काँग्रेस के जाने माने नेता रंजीत दास भाजपा में शामिल हो गए हैं। जिससे प्रदेश में राजनीतिक गलियारों में हलचल मच गई है। बागेश्वर से कांग्रेस के प्रत्याशी रंजीत दास होने के पूरे आसार थे वह पहले भी पूर्व विधायक के खिलाफ चुनाव लड़ चुके थे।

By Election update: टिकट का लालच या स्वाभिमान की बात

सत्ता का पलड़ा झुका कर बागेश्वर उपचुनाव से ठीक पहले भाजपा ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया। प्रदेश की राजनीति में यह पहली बार नहीं हो रहा की कोई मजबूत नेता ठीक चुनाव के समय अपनी पार्टी बदल दे। (By Election update) लेकिन आंकड़ों को देखा जाए तो बाजी पलटने में भाजपा सबसे आगे है, पहले भी कई बड़े कॉन्ग्रेसी चेहरे भाजपा ज्वाइन कर चुके हैं।

रंजीत दास के भाजपा में आते ही बड़ा उलटफेर देखने को मिला है। बागेश्वर उपचुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद से ही कांग्रेस और बीजेपी दोनों में बैठकों का दौर शुरू हो गया था। जहां एक ओर माना जा रहा था कि बीजेपी सहानुभूति का दांव खेलकर चंदन दास की पत्नी या बेटे को टिकट देगी।By Election update

लेकिन अब रंजीत की भाजपा में एंट्री कराकर बड़ा उलटफेर करते हुए कांग्रेस के प्रत्याशी को ही अपनी तरफ कर लिया है। जिससे भाजपा से दावेदारी में रंजीत दास का नाम भी जुड़ गया है। रंजीत दास 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से लड़ चुके है। उस चुनाव में वह भाजपा नेता दिवंगत केबिनेट मंत्री चंदनराम दास से हारे थे।

By Election update: मुख्यमंत्री धामी से प्रभावित होकर लिया फैसला

बागेश्वर में यह चुनाव (By Election update) बहुत खास होने वाला था क्यूंकी यह एक कैबिनेट मिनिस्टर की सीट थी और सायद इस साल का आखिरी चुनाव भी। अब देखना यह होगा की क्या रंजीत दास को भाजपा टिकट देती है या वो भी बस काँग्रेस से ऊब चुके हैं। फिलहाल इस खबर ने उत्तराखंड की राजनीति को गरम कर उसमें हलचल मचा दी है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने रंजीत दास को पार्टी की सदस्यता दिलाई। जहां पर उन्होंने प्रेस से बात करते हुए बताया की वह कॉलेज के समय से मुख्यमंत्री धामी को जानते हैं, और उनके काम करने के तरीके से बहुत प्रभावित हैं। By Election update

उन्होंने कहा की वह काँग्रेस में रहकर परेशान थे, वहाँ उन्ही भावनाएं आहात हो रही थी। इसीलिए मुख्यमंत्री धामी से प्रभावित होकर उन्होंने भाजपा में आने का फैसला लिया। (By Election update) काँग्रेस में उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुँच रही थी।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com