BADRINATH NEWS:7000 रुपये लेकर दर्शन कराने का झांसा, कर्मचारी हुआ Suspend

0
215
BADRINATH NEWS

UTTRAKHAND DEVBHOOMI DESK:बदरीनाथ मंदिर के कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरा में मंदिर समिति का एक कर्मचारी पूरी समिति को बदनाम करने वाली हरकत करते हुए पकडा गया है| बताया जा रहा कि सफाई हेड बीरू लाल मध्य प्रदेश के कुछ तीर्थयात्रियों से पैसों का लेन-देन करते(BADRINATH NEWS) दिखाई दिया। मंदिर समिति के अधिकारियों ने तुरंत ही तीर्थयात्रियों को बुलाया और सफाई हेड वीरू लाल के सामने खड़ा कर बात कराई।

तीर्थयात्रियों को पैसे लेकर दर्शन कराने के मामले में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने आरोपी अपने कर्मचारी पर तुरंत दंडात्मक कार्रवाई की  है। इसके बाद मंदिर समिति ने  सभी तीर्थयात्रियों से किसी के  भी झांसे में न आने की बात की गई है। समिति के अनुसार  भगवान बदरीविशाल के दर्शन कराने (BADRINATH NEWS)के नाम पर तीर्थयात्रियों को ठगने वाले लोग छैन से नहीं रहेंगे।

बीते कुछ समय से देखा जा रहा कि जैसे ही बदरीनाथ धाम की यात्रा में तेजी आई वैसे ही पैसे लेकर भगवान बदरीविशाल के दर्शन कराने वाले अपराधी सक्रिय हो गए हैं। इससे तीर्थयात्रियों में गलत संदेश जा रहा है। इन्हीं घटनाओं पर नजर बनाये हुए  बदरी केदार मंदिर समिति ने अपने ही एक कर्मचारी जो कि सफाई हेड बताया जा रहा है को दर्शन कराने के नाम पर पैसे ठगते हुए  रंगे हाथो पकड़ लिया है।

BADRINATH NEWS:मंदिर समिति ने तुरंत किया एक्शन

बता दें कि उक्त घटना बीते गुरुवार की है जब मंदिर समिति के बदरीनाथ धाम  प्रभारी अधिकारी अनिल ध्यानी की नजर कार्यालय में लगे सीसीटीवी कैमरा  में मंदिर समिति के सफाई (BADRINATH NEWS)हेड वीरू लाल  पैसों का लेन-देन करते दिखाई दिया। मंदिर समिति के अवर अभियंता गिरीश रावत ने इस वाकये की जानकारी प्रभारी  अधिकारी को दी । मामले की गंभीरता को समझते हुए मंदिर समिति के अधिकारियो तुरंत ही तीर्थयात्रियों को बुलाया और मामले की जांच शुरू कर दी|

ये भी पढ़ें-

IMA PASSING OUT PARRADE

सेना को मिलेंगे 332 युवा अफसर , इस दिन होगी पासिंग आउट परेड  

तीर्थयात्रियों ने लिखित रूप में बताया है कि उक्त वीरूलाल द्वारा उनसे दर्शन करने के लिए 7000 रूपये नकद लिए गए है,  जिस पर वीरू लाल मुकर गया लेकिन समिति के द्वारा सख्ती हकिये जाने पर वीरू लाल ने सभी के सामने 7000 सात हजार रूपये मध्य प्रदेश के तीर्थयात्री को वापस कर दिए।