6.92 करोड़ खर्चने के बाद भी नहीं बनी ये झील, विधायक बोले-गदेरे को क्यों रोका, क्यों लगाए इतने पैसे?

0
199

पौड़ी गढ़वाल (कुलदीप बिष्ट): पौड़ी विधायक राजकुमार पोरी ने निर्माणाधीन ल्वाली झील के निर्माण पर सवाल खडे किये हैं। विधायक राजकुमार पोरी ने सीएम पुष्कर सिंह धामी से मांग की है कि इस झील के निर्माण पर अब तक खर्च किये गये बजट की गहनता से जांच करवाई जाये। जिससे झील निर्माण के नाम पर खर्च किये गये करोडों रुपये का सच जनता के समाने आ सके दरअसल ल्वाली झील का निर्माण पूर्व विधायक मुकेश कोली के कार्यकाल में शुरू किया गया था। उस दौरान झील निर्माण का इस्टीमेट 6 करोड 92 लाख रूपये तय करते हुए शासन से 6 करोड 92 लाख रूपये की मांग की गई जिस पर 6 करोड 92 लाख रुपये का बजट भी शासन द्वारा विभाग को भेज दिया गया।

6.92 करोड़ खर्चने के बाद भी नहीं बनी ये झील, विधायक बोले-गदेरे को क्यों रोका, क्यों लगाए इतने पैसे?

rajkumar pori mla pauri

6.92 करोड़ खर्चने के बाद भी नहीं बनी ये झील, विधायक बोले-गदेरे को क्यों रोका, क्यों लगाए इतने पैसे?

अब स्थिति ये है कि पूरा बजट खर्च होने के बाद भी झील का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया जिससे वर्तमान विधायक ने इसे फिजूल खर्च बताया है और विभाग से बजट खर्च का ब्योरा मांगते हुए विभागीय अधिकारी और कार्यदाई संस्था पर जांच बिठाने की मांग की है। विधायक पोरी के अनुसार इस गदेरे के पानी से अगर किसी को फायदा नहीं होगा, वहां पर्यटन जैसे गतिविधियां शुरू नहीं होंगी, तो फिर इसका पानी क्यों रोका गया। साथ ही उन्होंने इस पर खर्च किए गए करोड़ों रुपये के बजट की जांच की मांग की है। पौड़ी विधायक राजकुमार पोरी ने मांग की है कि झील के बजट खर्च की जांच होने के बाद ही विभाग को अग्रिम बजट दिया जाना चाहिये।

liwali jheel sunil kumar xen ee shrinagar

वहीं, दूसरी ओर इस झील को बना रही कार्यदाई संस्था सिंचाई विभाग श्रीनगर के अधीशासी अभियंता ने बताया कि झील का 80 फीसदी कार्य पूरा हो चुका है। 5 कंकरिट के बियर बनाये जाने के साथ ही यहां तक जाने वाली सडक का निर्माण कार्य किया जा चुका है। अब साईड डवलेपमेंट के लिये अतिरिक्त बजट की मंाग करते हुए शासन को रिवाइज इस्टीमेट भेजा गया है। ताकि झील का कार्य पूर्ण हो सके।