दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप

0
157
दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप
दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप

दूल्हे को यहां दहेज में दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप- यूं तो दहेज लेना भारत में कानूनी अपराध है लेकिन ज्यादात्तर इलाकों में आज भी इसका प्रचलन देखने को मिलता है। आपने अक्सर देखा होगा कि एक पिता अपनी बेटी और उसके ससुराल वालों को घर का फर्नीचर, कपड़े, कार, गहने आदि चीजें उपहार के तौर पर गिफ्ट करते हैं। लेकिन आज हम आपको पिता द्वारा दामाद को दिया जाने वाला एक ऐसे उपहार के बारे में बताएंगे जिसे सुनकर आप भी चौंक जाएंगे। मध्य प्रदेश का एक ऐसा समुदाय जहां पिता अपने दामाद को दहेज में 21 जहरीले सांप गिफ्ट करता है।

मध्य प्रदेश का गौरिया समुदाय

मध्य प्रदेश के गौरिया समुदाय द्वारा एक अनोखी परंपरा निभाई जाती है यहां बेटियों की शादी में दहेज में पिता दूल्हे को 21 जहरीले सांप देता है। लोगों का मानना है कि यदि इस प्रथा को नहीं निभाया गया तो अपशगुन हो सकता है। यह परंपरा इस समुदाय में काफी सालों से चली आ रही है। आपको बता दें कि गौरिया समुदाय के लोग सांप पकड़ने का काम करते हैं।  यही इनका व्यवसाय है ये लोग लोगों को सांप दिखाकर पैसे मांगते हैं। इसके साथ ही ये लोग सांपो का जहर निकालकर बेचा भी करते हैं।

दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप
दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप

दूल्हे को यहां दहेज में दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप

वहीं कहा जाता है कि बेटी की शादी तय होने के बाद पिता अपने दामाद के लिए सांप पकड़ना शुरू कर देते हैं। गौरिया समुदाय के लोग सांप के जरिए ही पैसा कमाते हैं।  वहीं कहा जाता है कि बेटी के पिता द्वारा दामाद को सांप इसिलिए दिए जाते हैं ताकि वो परिवार का पेट पाल सकें और उनकी बेटी को खाने पीने की कोई कमी न रहें, इसिलिए ये लोग सांप को पकड़कर दूल्हे को भेंट करते हैं ताकि उनकी बेटी का आय का जरिया बना रहें। ये सांप इतने जहरीले होते हैं कि यदि एक बार किसी को काट ले तो उसकी तुरंत मौत हो जाए। यहां लोग सांपों को घर के मेंबर की तरह पालते हैं।

दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप
दूल्हे को यहां दहेज में क्यों दिए जाते हैं 21 जहरीले सांप

दूल्हे को यहां सांप देते हैं पिता

यदि सांप की मौत होती है तो परिवार के सदस्य अपना मुंडन भी करवाते हैं। साथ ही सांपों के नाम का भौज भी करवाते हैं। यहां के बच्चे भी निडर होकर सांपों के साथ खलते हैं।  वहीं ये भी माना जाता है कि यदि पिता एक निश्चित अवधि तक सांप पकड़ पाता है तो उस स्थिति में वो रिश्ता टूट जाता है। दूल्हे को यहां दहेज में इसिलिए दिए जाते हैं सांप। 

ये भी पढे़ं : Kedarnath Dham कैसे और कब जाएं जानिए संपूर्ण जानकारी