विप्रो चेयरमैन को आ रहे हैं “हेट मेल” 300 कर्मचारियों को निकालने का है मामला

0
223
wipro

Wipro चेयरमैन रिशद प्रेमजी को आ रहे “हेट मेल”, 300 कर्मचारियों को निकालने पर आलोचनाओं से घिरे

एक साथ 2 नौकरी करने के मामले में Wipro कंपनी द्वारा 300 लोगों को निकालने के बाद चेयरमैन रिशद प्रेमजी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। एक तरफ जहां सोशल मीडिया पर उनके इस फैसले को सही बताया गया तो वहीं कुछ लोगों ने उनके इस फैसले को गलत बताया। एक रिपोर्ट के अनुसार कथित तौर पर विप्रो के चेयरमैन रिशद प्रेमजी को “हेट मेल” आ रहे हैं। हालांकि, उन्होने कहा है कि वो अपनी बात पर कायम हैं। रिशद प्रेमजी ने बुधवार को खुलासा किया था कि विप्रो ने 300 कर्मचारियों को प्रतिद्वंदी संस्थान के साथ काम करते हुए पाया है, जिन्हें नौकरी से निकालने का फैसला किया गया है।

Wipro चेयरमैन रिशद प्रेमजी Moon Lighting के सख्त विरोधी

wipro

Wipro चेयरमैन शुरू से ही Moon Lighting [एक साथ दो कंपनी में काम करना ]के सख्त विरोधी रहे हैं और उन्होने इसकी तुलना कंपनी के साथ “धोखाधड़ी”के रूप में की है। रिशद प्रेमजी ने twitter पर कहा था “सूचना प्रोद्योगिकी कंपनियों में Moon Lighting करने वाले कर्मचारियों के बारे में बहुत सारी बाते सामने आ रही हैं।यह सीधे और स्पष्ट तौर पर कंपनी के साथ धोखा है “। विप्रो के चेयरमैन की हाल में टिप्पणी के बाद उद्योग में एक नयी बहस शुरू हो गयी है। सूचना प्रोद्योगिकी [आईटी] कंपनी Infosys ने कंपनी में नौकरी के साथ अन्य कार्य करने वाले कर्मचारियों को कारवाई की चेतावनी दी है।

ये भी पढ़ें नए टेलीकॉम बिल में कानून के दायरे में आएंगे WhatsApp और Telegram कॉल, OTT की मनमानी नहीं चलेगी

Wipro चेयरमैन ने अपने इस कदम से उद्योग जगत में नयी बहस छेड़ दी,कबूल किया कि आया “हेट मेल”

अखिल भारतीय प्रबंधन संघ के राष्ट्रीय प्रबंधन सम्मेलन में बोलते हुए, प्रेमजी ने कहा कि वास्तविकता यह है कि आज ऐसे लोग हैं, जो Wipro के लिए काम कर रहे हैं और इसकी एक प्रतियोगी के लिए सीधे तौर पर काम कर रहे हैं।विप्रो के चेयरमैन कथित तौर पर टेक उद्योग में Moon Lighting [एक साथ दो कंपनियों के लिए काम करना ]के बारे में बात करने वाले पहले व्यक्ति थे।

For Latest National News Subscribe devbhoominews.com