देहरादून, ब्यूरो। उत्तराखंड का सेवा योजन विभाग अब बेरोजगार युवाओं को उपनल (UPNL) और प्रांतीय रक्षक दल विभाग (पीआरडी) (PRD) की तरह आउटसोर्स एजेंसी के तौर पर सरकारी विभागों में सरकारी नौकरी दिलाएगा। उत्तराखंड के सभी सरकारी विभागों में हजारों आउटसोर्स कर्मचारी उपनल और पीआरडी के माध्यम से तैनात हैं। कई वर्षों से इन दोनों एजेंसियों के माध्यम से बेरोजगारों को अलग-अलग श्रेणी के रोजगार दिए जा रहे हैं। वहीं, अब सेवायोजन विभाग पीआरडी और उपनल की तर्ज पर सरकारी विभागों में युवाओं को रोजगार दिलाएगा। इसके लिए कौशल विकास मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कमर कर ली है। उन्होंने अधिकारियों के साथ विधानसभा में बैठक कर विचार विमर्श किया और जल्द ही इस संबंध में जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए। सभी अफसरों को इसका प्रस्ताव तैयार कर भेजने के निर्देश मंत्री की ओर से दिए गए हैं।

devbhoomi

अब सेवा योजन विभाग के 23 कार्यालय सिर्फ पंजीकरण तक ही सीमित नहीं रहेंगे, इन कार्यालयों से युवाओं को रोजगार भी मिल पाएगा। वर्तमान में उत्तराखंड के सभी सेवायोजन कार्यालयों में आठ लाख से अधिक बेरोजगार पंजीकृत हैं। उत्तराखंड भाजपा सरकार के कौशल विकास मंत्री बहुगुणा ने बताया कि सेवायोजन विभाग को जल्द आउट सोर्स एजेंसी बनाने का प्रस्ताव मुख्यमंत्री के के सामने रखा जाएगा। इससे तमाम बेरोजगार युवाओं को आउटसोर्स के माध्यम से रोजगार मिल पाएगा। सेवा योजन विभाग आउट सोर्स एजेंसी बनने के बाद उपनल और पीआरडी की तर्ज पर काम करेगा। अब देखना होगा कि युवा मंत्री सौरभ बहुगुणा का यह विभाग कब तक आउटसोर्स एजेंसी के तौर पर सामने आएगा और कितने बेरोजगारों को इससे रोजगार मिलेगा।