Tuesday, September 27, 2022
Homeउत्तर-प्रदेशUP Politics: यूपी में भाजपा को ललकारेंगे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,...

UP Politics: यूपी में भाजपा को ललकारेंगे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, क्या हो पाएगा कमाल ?

UP Politics:उत्तर प्रदेश की जमीन पर नीतीश का इम्तिहान, पास होंगे या फ़ेल देखना दिलचस्प होगा

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव 2024 में UP की फूलपुर,मिर्ज़ापुर,अम्बेडकरनगर या फ़तेहपुर से लोकसभा चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं। इन सभी सीटों पर उन्हें कुर्मी-यादव-मुस्लिम गठजोड़ का सहारा मिल सकता है हालांकि अभी इस पर अंतिम मुहर लगना बाकी है।

UP Politics:यह प्रस्ताव सिर्फ संभावना नहीं बल्कि सोची समझी रणनीति है, देखें क्या बन रहे हैं समीकरण

up

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का UP से चुनाव लड़ना सिर्फ संभावना नहीं बल्कि सोची समझी रणनीति है जिस पर जनता दल के थिंक टैंक को अंतिम मुहर लगाना बाकी है। क्या इसलिए कि दिल्ली कि सत्ता का रास्ता यूपी से होकर गुजरता है ?और नीतीश कुमार भी देश के नेता [प्रधानमंत्री] बनना चाहते हैं। नहीं अगर यह वजह होती तो नीतीश “अटल के लखनऊ” या “मोदी की काशी “से भी ताल ठोंक सकते थे। सिर्फ 4 सीटों के प्रस्ताव के पीछे रणनीति यह है कि सपा को साथ लेकर कुर्मी, यादव और मुस्लिम votebank के गठजोड़ से संभावित “सुरक्षित” माँद से वह सत्ताधारी भाजपा को ललकारना चाहते हैं।

UP Politics:नीतीश कुमार का प्रयास क्या रंग लाएगा, क्या विपक्ष एकजुट हो पाएगा ?

UP Politics – भाजपा कि लोकसभा चुनाव में “Hat Trick”रोकने के लिए देशभर के विपक्षी दलों को एकजुट करने के प्रयास में नीतीश कुमार जुटे हुए हैं। वह खुद को प्रधानमंत्री का दावेदार भले न कहें लेकिन jdu नेताओं के जुबान पर यह सुनने को मिल जाता है। पिछले दिनों विपक्षी लामबंदी के मिशन पर निकले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने UP सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और मुखिया अखिलेश यादव से मुलाक़ात की ।

ये भी पढ़ें  Noida Sector-21 में दीवार गिरने से बड़ा हादसा- 4 लोगों की मौत, जेसीबी से हटाया जा रहा मलबा

UP Politics:अखिलेश की नजर में सिराथु माडल

UP में भाजपा बेशक, गठबंधन के बावजूद “खोटा सिक्का “मानकर एक भी सीट देने से बचती रही हो, लेकिन सपा मुखिया अखिलेश यादव जातीय रणनीति का सिक्का उछालना चाहते हैं।इसकी वजह ये हो सकती है हाल ही में विधानसभा चुनाव में कौशांबी की कुर्मी बिरादरी के प्रभाव वाली सिराथु सीट से अपना दल की पल्लवी पटेल सपा की ticket और वोट के सहारे भाजपा के बड़े नेता और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को हराने में सफल रहीं। वही समीकरण सपा मुखिया कुर्मी-यादव-मुस्लिम के संभावित गठजोड़ में देख रहे हैं। हालांकि, अभी तक जेडीयू यूपी में कोई लोकसभा सीट जीत नहीं सकी है।

For Latest Uttar Pradesh News Subscribe devbhoominews.com

RELATED ARTICLES

Most Popular