Twin Towers की कार्रवाई से बिल्डरों और अफसरों में मची खलबली, 500 करोड़ का नुकसान

0
235
Twin Towers

Twin Towers Demolition

नोएडा ब्यूरो- नोएडा के Twin Towers रविवार को जमींदोज हो गये है। सालों से ऐतिहासिक इमारत qutubminar को मुहं चिढ़ाते हुए इन Twin Towers को सरकार ने गिरा दिया। एक झटके में धूल के गुब्बार में गुम हो गया और ढेरों सवाल अपने पीछे छोड़ गया।

इन Twin Towers को बनाते समय जो भी अनियमितताएं बरती गयीं उनके जवाब अब न तो बिल्डर के पास है ना ही सरकारी अफसरों के पास जिन्होंने इस अवैध इमारत को मंजूरी दी।

Twin Towers Demolition, टूट गया बिल्डरों और अफसरों का अहंकार 

Supertech Builder ने जिस तरह से जमीन का आवंटन कराया और धीरे- धीरे जरुरत भर की जमीन गलत तरीके से अथॉरिटी से अपने नाम करवा ली वो कई तरह के सवाल खड़े करती है। जिस तरह से आपसी मिलीभगत करके सरकारी अफसरों के साथ 22 मंजिली इमारत को 33 फीसदी बढ़ाने का आदेश जारी करवा लिया, ये जानते हुए कि इससे इमारत की नीवं कमजोर पड़ जाएगी। रातों रात लखनऊ से एक आदेश आता है और मंजूरी मिल जाती है। पैसे और सत्ता के नशे में चूर दोनों बिल्डर और अधिकारी ये गलतियां जानभूझकर करते गए। अब जब सरकार ने इस इमारत को जमींदोज कर दिया है, उसने बिल्डर और अधिकारियों में खलबली मचा दी है।

Twin Towers

Twin Towers Demolition में तत्कालीन सरकार भी घेरे में

इस मामले में उस समय की तत्कालीन सरकार भी सवालों के घेरे में है कि अकेले बिल्डर ने बिना किसी की मदद के कैसे अपने मन से इतना बड़ा टावर खड़ा कर दिया बिना सुरक्षा पैमाने को जांचे? ये भी सवाल उठ रहा ही कि कैसे रातों रात लखनऊ से नए आदेश के तहत 33 फीसदी इमारत बढ़ा दी गयी। ये भी सवाल उठ रहा है कि किसके कहने पर हाई कोर्ट में याचिका दायर होने के बाद भी काम को रोका नहीं गया इमारत बनती चली गयी। ये भी सबके सामने है कि टावर की ऊंचाई बढ़ा दी गयी और परिणाम सामने है।

Twin Tower Case में आज भी असली गुनहगार आजाद

Twin Towers

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने जांच के आदेश के तहत एक 4 सदस्यीय कमेटी बनायी जिसके आधार पर अब तक 26 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। supertech बिल्डर और आर्किटेक्ट के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया और अथॉरिटी के प्लानिंग विभाग के अफसर भी जांच के दायरे में हैं लेकिन अभी तक ये मामला किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा। उस समय के कई अधिकारी रिटायर हो चुके हैं और कुक की मृत्यु हो चुकी है लेकिन ये कटु सत्य है कि अभी तक किसी को भी सजा नहीं हुई ,बस जांच चल रही है।

ये भी पढ़ें Twin Towers Demolition : मात्र 9 सेकेंड में ध्वस्त हो जाएंगे 40 मंजिला दोनों Twin Towers

कुछ ही सेकंड्स में गगनचुंबी इमारत जमिदोज |