रुद्रप्रयाग: बहू की जान बचाने के लिए गुलदार से भिड़ गई सास

0
228
Tiger Attack Woman
Tiger Attack Woman

Uttarakhand Devbhoomi Desk: पहाड़ों में आज जानकी देवी का नाम गूंज रहा है, उत्तराखंड आज बुजुर्ग जानकी देवी के साहस (Tiger Attack Woman) की तारीफ करते नहीं थक रहा है। उत्‍तराखंड रुद्रप्रयाग के जंगल में घास काटते वक्त जब एक खूंखार गुलदार ने जानकी देवी की बहू के पीछे पड़ गया तो उन्‍होंने अपनी हिम्मत से सबको छोंका दिया। अपनी बहू को बचाने के लिए जानकी देवी गुलदार से भिड़ गईं।

अगस्त मुनि के फलाई गांव की रहने वाली 62 वर्षीय जानकी देवी और उनकी बहू पूनम जंगल में घास काट रहे थे। तभी अचानक झाड़ी के पीछे छुपे गुलदार (Tiger Attack Woman) ने उनकी बहू पूनम पर हमला कर दिया। यह देख जानकी देवी गुलदार से भिड़ गई और अपनी बहू पूनम की जान बचा ली। जो भी इस किस्‍से को सुन रहा है, वह बुजुर्ग जानकी देवी के साहस की तारीफ करते नहीं थक रहा।

यह भी पढ़े:
big decision
उत्तराखंड: सरकारी भूमि पर किया अतिकर्मण तो होगी 10 साल की सजा

पहाड़ों में घसीट ले गया गुलदार (Tiger Attack Woman)

इस दौरान सास बहू की चीख चिल्लाहट सुन गुलदार ने पूनम को तो छोड़ दिया पर जानकी देवी पर हमला कर दिया और काफी दूर तक घसीट कर ले गया। हमले में बुजुर्ग महिला के शरीर पर कई जगह गहरे जख्म हो गए हैं। उन्‍हें सीएचसी अगस्त मुनि में प्राथमिक उपचार देने के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। बहू पूनम को हल्की फुल्की चोट लगी है और उनकी हालत में अब सुधार बताया जा रहा है।Tiger Attack Woman

गुरुवार 6 जुलाई को ये दोनों गांव की अन्य महिलाओं के साथ घास काट रही थी। जैसे ही गुलदार ने पूनम पर हमला किया तो जानकी देवी ने उस पर दरांती से हमला बोल दिया। हमले से गुलदार ने पूनम को तो छोड़ दिया, पर जानकी देवी को पथरीले और टेढ़े मेढ़े रास्ते पर काफी दूर तक घसीटा। अन्य महिलाओं के चीखने चिल्लाने के बाद गुलदार (Tiger Attack Woman) दोनों को छोड़ कर वहां से भाग गया। जानकी देवी को गहरी चोटें लगीं। फिलहाल उनका उपचार चल रहा है।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com