स्कूली छात्राओं ने शिक्षक के खिलाफ दर्ज कराया फर्जी “यौन उत्पीड़न” का मामला

tamilnadu

Tamilnadu के स्कूल प्रिन्सिपल की साजिश का खुलासा, छात्राओं से जबरन दर्ज करवाया फर्जी “यौन उत्पीड़न ” का मामला

आज एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई जहां Tamilnadu में 2 स्कूली छात्राओं द्वारा एक पुरुष शिक्षक पर यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज कराया है। इस घटना की जांच में यह बात सामने आई कि शिकायत बिना किसी आधार के ही की गयी थी। इस मामले में पुलिस ने 2 महिला शिक्षकों पर भी पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

Tamilnadu में प्रिन्सिपल ने बदले की भावना से छात्राओं को झूठी शिकायत के लिए उकसाया

tamilnadu

तमिलनाडु मदुरे के डीआईजी और एसपी शिव प्रसाद की गहन जांच के बाद यह बात सामने आई की स्कूल के प्रिन्सिपल ने शिक्षकों के साथ अपनी निजी रंजिश मिटाने के लिए छात्राओं को झूठी “यौन उत्पीड़न” की शिकायत के लिए उकसाया था। स्कूल के शिकायत पेटी में रखे गए शिक्षक के खिलाफ यौन उत्पीड़न की छात्राओं की लिखित शिकायत पर प्रिन्सिपल ने 6 अगस्त को चाइल्ड लाइन पर फोन किया था।

ये भी पढ़ें पत्नी के पीटने पर पति ने की PMO से शिकायत, पूछा -क्या यही है नारी शक्ति ?

Tamilnadu के स्कूल प्रिन्सिपल पर लगा POCSO, छात्राओं ने किया पुलिस के सामने खुलासा

Tamilnadu में किसी स्कूल में हुई यह पहली घटना है जब अपने साथी शिक्षकों से बदला लेने के लिए छात्राओं को झूठी शिकायत दर्ज कराने के लिए उकसाने वाले प्रिन्सिपल पर POCSO अधिनियम लगाया गया है। बताते चलें कि जब जांच के दौरान उच्च पुलिस अधिकारियों ने पड़ताल की तो छात्राओं ने बताया कि, हमने खुद पत्र नहीं लिखा था बल्कि हमने ऐसा स्कूल के प्रिन्सिपल के कहने पर किया था।

छात्राओं ने बताया कि शारीरिक शिक्षा के शिक्षकों ने उनके साथ कुछ भी गलत नहीं किया। इसके बाद संबन्धित छात्राओं को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। इसके बाद POCSO विशेष अदालत में मामले में अंतिम रिपोर्ट दायर करते हुए कहा कि शिकायत फर्जी थी। अदालत ने इस बयान को स्वीकार करते हुए मामले को बंद कर दिया।

For Latest National News Subscribe devbhoominews.com