आज शीतकाल के लिए बंद हुए द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट

0
82
Second Kedar Madmaheshwar Temple

Uttarakhand Devbhoomi Desk: द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर (Second Kedar Madmaheshwar Temple) के कपाट आज विधिविधान के साथ बंद कर दिए गए है। बता दें कि प्रात: चार बजे मंदिर खुलने के बाद श्रद्धालुओं ने भगवान मद्महेश्वर के दर्शन किये। जिसके बाद मंदिर के पुजारियों ने बाबा मद्महेश्वर की पूजा कर कपाट को सुबह 8.30 बजे शीतकाल के लिए बंद कर दिये हैं।

इस मौके पर मंदिर प्रशासन के अधिकारी यदुवीर पुष्पवान, डोली प्रभारी मनीष तिवारी, मृत्युंजय हीरेमठ, सूरज नेगी, प्रकाश शुक्ला, दिनेश पंवार, बृजमोहन सहित रांसी, गौंडार के हक हकूकधारी तथा वन विभाग सहित प्रशासन के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

यह भी पढ़े:
Family Identity Card
उत्तराखंड: अब हर परिवार को Family Identity Card बनाना जरुरी, जानिये इसकी वजह

Second Kedar Madmaheshwar Temple: 19 को रांसी में होगा प्रवास

कपाट बंद होने के बाद भगवान मद्महेश्वर (Second Kedar Madmaheshwar Temple) की पूजा अर्चना के लिए भगवान की चल विग्रह डोली 19 नवंबर को राकेश्वरी मंदिर रांसी, 20 नवंबर को गिरिया पहुंचेगी‌। इसके बाद 21 नवंबर को भगवान मद्महेश्वर की चल विग्रह डोली शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ पहुंचेगी। इस अवसर पर श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में श्री मद्महेश्वर मेले का भी आयोजन होगा।

यह भी पढ़े:
Dehradun News
Dehradun News: पेड़ से टकराई कार, एक की मौत

बता दें कि इससे पहले (Second Kedar Madmaheshwar Temple) 27 अक्‍टूबर को सुबह 8:30 पर पूरे विधि विधान से शीतकाल के लिए केदार बाबा के कपाट बंद हो गए थे। जानकारी मुताबिक इस वर्ष केदारनाथ यात्रा में रिकार्ड यात्री दर्शनों को आए थे।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com