समुद्र का पानी कभी हुआ करता था मीठा, अब क्यों हो गया खारा?

0
430
Salty Ocean Water
Salty Ocean Water

Salty Ocean Water: समुद्र के पानी का खारा होने के पीछे का असल कारण क्या है?

Salty Ocean Water: क्या आपको मालूम है कि जिस समुद्र का पानी आज खारा है वो कभी मिसरी के समान मीठा हुआ करता था। लेकिन ऐसा क्या हुआ कि समुद्र का मीठा पानी खारे पानी में बदल गया। जिस पानी को लोग कभी पीया करते थे आज उस पानी का एक घूट तक कोई नही पी सकता। तो चलिए आपको बताते हैं कि किस कारण समुद्र का मीठा पानी खारे पानी में तब्दील हो गया।   

शिव पुराण में किस बात का जिक्र है (Salty Ocean Water)

शिव पुराण में इस बात का जिक्र है कि कैसे समुद्र का मीठा पानी झट से खारे पानी (Salty Ocean Water) में बदल गया। दरअसल एक बार माता पार्वती भगवान शिव को पाने के लिए घोर तपस्या कर रहीं थी। माता पार्वती की इस तपस्या से इतना तेज उत्पन्न हुआ कि देवताओं के सिंहासन हिलने लगे, सभी देवगण इससे घबराने लगे और भगवान शिव के पास मदद मांगने पहुंचे।

माता पार्वती पर समुद्र देव हुए मोहित

माता पार्वती भगवान तपस्या करते हुए
Source: Social Media

इधर देवगण माता पार्वती की तपस्या से निकले तेज से घबरा रहे थे वहीं दूसरी ओर समुद्र देव उस समय माता पार्वती की खूबसूरती पर मोहित हो चुके थे। अब समुद्र देव इंतदार कर रहे थे माता पार्वती की तपस्या के पूरे होने का, जैसे ही माता पार्वती की तपस्या पूर्ण हुई वैसे ही समुद्र देव ने माता पार्वती के समक्ष शादी का प्रस्ताव रख दिया। ये सुनने के बाद माता पार्वती ने समुद्र देव से कहा कि वह भगवान शिव से प्रेम करती हैं और अपने दिल की गहराइयों से भगवान शिव को अपना पति मान चुकी हैं।

ये भी पढ़े:
Nude Beaches in India
भारत की इन जगहों पर आप बिना कपड़ो के ही घूम सकते हैं

समुद्र देव ने भगवान शिव को कहा भला बुरा

माता पार्वती के मुख से ये सुनने के बाद समुद्र देव अत्यंत क्रोधित हो उठे और क्रोध में समुद्र देव ने भगवान शिव को बुरा भला कहना शुरू कर दिया। समुद्र देव ने माता पार्वती के सामने ही भगवान शिव को कोसते हुए कहा, “हे पार्वती, शिव तो एक भस्माधारी आदिवासी है..आखिर उसमें ऐसा क्या है जो मुझमें नहीं है, मैं पृथ्वी में मौजूद सभी जीव जंतुओं की प्यास बुझाता हूं, मेरा चरित्र दूध की भांति सफेद है, इससे बढ़कर तुम्हें क्या चाहिए, तुम उस भस्माधारी आदिवासी को छोड़कर मेरा विवाह प्रस्ताव स्वीकार करो।”   

माता पार्वती ने दिया समुद्र देव को श्राप

समुद्र देव के मुख से भगवान शिव के लिए ऐसे कटु वचन सुनने के बाद माता पार्वती अत्यंत क्रोधित हो उठीं और इस क्रोध के चलते माता पार्वती समुद्र देव को श्राप देते हुए कहती हैं, “आज जिस मीठे पानी पर तुम्हे इतना घमंड है, तुम्हारा वही मीठा पानी अब खारा (Salty Ocean Water) हो जाएगा, तम्हारे इस खारे पानी (Salty Ocean Water) को कोई भी मनुष्य नही पी पाएगा”   

ये भी पढ़ें आधार कार्ड दिखाओ- बारातियों से बोले लड़की वाले, खाना तभी मिलेगा- वरना लौट जाओ

समुद्र देव को दिए गए श्राप – माता पार्वती 

माता पार्वती द्वारा समुद्र देव को दिए गए इस श्राप के बाद से ही समुद्र का पानी हमेशा हमेशा के लिए खारा (Salty Ocean Water) हो गया और इस खारेपन के कराण ही समुद्र के पानी को कोई भी नही पी पाता। इसके अवाला समुद्र के पानी का खारा होने के पीछे की एक कथा ये भी है कि जब समुद्र मंथन हुआ था तो उस समय मंथन के प्रभाव से समुद्र का पानी खारा हो गया था।

ये भी पढ़े:
Lakhimpur Kheri Accident
लखीमपुर खीरी में भयानक सड़क हादसा, 8 लोगों की मौत, कई घायल

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com