PM Modi आज करेंगे “कर्तव्य पथ “का उदघाटन, राजपथ का नया नाम होगा “कर्तव्य पथ”

0
71
pm modi

PM Modi आज शाम 7 बजे करेंगे उदघाटन, 16 पुल, नहर और ग्रीन एरिया से सुसज्जित होगा कर्तव्य पथ”

ब्रिटिश शासन काल में इस सड़क का नाम “kingsway” हुआ करता था जिसको आजादी के बाद इसका नाम बदलकर “राजपथ” कर दिया गया। अब फिर एक बार इसका नाम बदलकर “कर्तव्य पथ” रखा जा रहा है। 3.2 किलोमीटर लंबे “कर्तव्य पथ “पर नयी सुविधाएं दिखेंगी जैसे 16 पुल, नहर और green एरिया। 102 साल में तीसरी बार राजपथ का नाम बदला गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 8 सितंबर 2022 को शाम 7 बजे इस “कर्तव्य पथ” का उदघाटन करेंगे और इसके साथ ही वे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा का भी अनावरण करेंगे ।

“कर्तव्य पथ ” (राजपथ) है राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक का रास्ता

pm modi

अभी कुछ दिन पहले ही NDMC [नई दिल्ली म्यूनिसिपल कार्पोरेशन] ने PM Modi के द्वारा राजपथ का नाम बदलकर “कर्तव्य पथ” करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इस कर्तव्य पथ रास्ते की कुल लंबाई 3.20 किलोमीटर है और यहीं हर साल गणतन्त्र दिवस पर परेड निकलती है।

PM Modi के द्वारा उदघाटन में नए रंग नए रूप में दिखेगा “कर्तव्य पथ”

PM Modi के उदघाटन के बाद “कर्तव्य पथ” अब बिलकुल नए रूप और रंग में सबके सामने होगा। इस पथ के आस पास लाल ग्रेनाइट से करीब 15 किलोमीटर का walkway बना है। इस पथ के ठीक बगल में 19 एकड़ में नहर भी है । इस कर्तव्य पथ पर 16 पुल बनाए गए हैं और फूड स्टाल के साथ दोनों तरफ बैठने के भी इंतेजाम हैं ।

इस पूरे इलाके में 3.90 लाख वर्ग meter में चारों तरफ हरियाली होगी जो इसका विशेष आकर्षण है। जहां शाम को इस इलाके को जगमग करने के लिए आधुनिक lights का इस्तेमाल क्या जाएगा वहीं पैदल चलने वालों के लिए अंडरपास भी बनाए गए हैं। PM Modi के उदघाटन के बाद कल शुक्रवार से “कर्तव्य पथ” को आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा ।

ये भी पढ़ें Heavy Rain In Karnataka : स्कूल हुए बंद, होटल के किराये में हुआ इजाफा, बेंगलुरु में बारिश से हाल बेहाल

“कर्तव्य पथ “का इतिहास

pm modi

1911 में जब अंग्रेजों ने अपनी राजधानी कोलकाता से दिल्ली बनाई, तब नई राजधानी दिल्ली का डिज़ाइन बनाने का जिम्मा एडविन लुटियन्स और हेरबेर्ट बेकर को दिया गया और 1920 में राजपथ अब कर्तव्य पथ बनकर तैयार हुआ था और अंग्रेजों के समय इसको “kingsway [राजा का रास्ता कहा गया]। आजादी के बाद इसका नाम बदलकर “राजपथ” कर दिया गया जो kingsway का ही हिन्दी अनुवाद है। विगत 75 सालों से इसी राजपथ अब कर्तव्य पथ पर गणतन्त्र दिवस की परेड हो रही है। अब जाकर तीसरी बार केंद्र सरकार ने इसका नाम बदलकर “कर्तव्य पथ “रखने का फैसला किया है।

For Latest News of Uttar Pradesh Subscribe devbhoominews.com