उत्तरकाशी, ( विनीत कंसवाल ) : पहाड़ पर हो रही बारिश का खासा असर चारधाम यात्रा में भी देखने को मिल रहा है। लगातार मार्ग बाधित होने की खबरें सामने आ रही हैं। ऐसे में तीर्थ यात्रियों को भी खासा परेशानी की सामना करना पड़ा रहा है। वहीं बरसात से पहले ही यमुनोत्री मार्ग का करीब 10 मीटर हिस्सा भूस्खलन होने से ढह गया है। जिसमें एनएच विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। इसी बीच यमुनोत्री धाम की सड़क धसने की खबर भी सामने आ रही है। सड़क धसने से यमुनोत्री यात्रा खासा प्रभावित हो गई है।

यमुनोत्री नेशनल हाइवे 94 राना चट्टी के 1 किमी के पास पुश्ता ढ़ह गया है।

मार्ग संकरा होने के चलते छोटे वाहनों को पुलिस एक-एक कर पार करवा रही है। लेकिन बड़े वाहनों के लिए आवाजाही पूरी तरह रोक दी गई है। यमुनोत्री जाने वाले वाहनों को सुरक्षा के लिहाज से खरादी और बडकोट के बीच रोका जा रहा है। बता दें कि बुधवार शाम हल्की बारिश के बीच करीब 6 बजे रानाचट्टी के पास अचानक यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग के निचले हिस्से में भूस्खलन हो गया था । जिस वजह से हाईवे का करीब 15 मीटर लंबा और तीन मीटर चौड़ा हिस्सा धंस गया । ये भूस्खलन यमुनोत्री धाम से  25 किमी पहले रानाचट्टी के पास यमुनोत्री हाईवे के पास हुआ है।

मार्ग से बस छोटे वाहन ही निकल पा रहे हैं, और बड़े वाहनों की आवाजाही ठप हो गई है। उधर बसों के जरिए जानकीचट्टी से बड़कोट की ओर आने वाले 1200 यात्री फंसे हुए हैं । और बड़कोट से जानकीचट्टी की ओर जाने वाले लगभग तीन हजार यात्री बड़कोट और स्यानाचट्टी के बीच फंसे हैं। प्रशासन अधिकारियों ने आज शाम तक मार्ग सही होने की संभावना जताई है।