अब Jammu and Kashmir में रह रहे बाहरी लोगों को मिलेगा वोट देने का अधिकार

0
151

जम्मू-कश्मीर से बड़ी खबर सामने आ रही है , बता दें कि Jammu and Kashmir के मुख्य चुनाव अधिकारी हिरदेश कुमार की तरफ से एक बड़े फैसले की घोषणा की गयी है। आयोग के द्वारा कश्मीर से बाहर के लोगों को भी मतदान करने का अधिकार दिया जा चुका है। इनमें छात्रों को, कर्मचारियों को, मजदूरों को और देश के दूसरे राज्यों के उन व्यक्तियों का नाम शामिल किया जायेग जो वर्तमान में जम्मू-कश्मीर में रह रहे हैं। इनका नाम मतदाता सूची में दर्ज किया जायेगा।

जिसके चलते यह आने वाले जम्मू-कश्मीर के चुनावों में मतदान कर सकते हैं।

किरायदार भी दे सकेंगे वोट

istockphoto 1166497473 612x612 1
Srinagar

मीडिया रिपोर्ट्स से जानकारी मिली है कि वे सशस्त्र बल के जवान जो दूसरे राज्यों से आते हैं, और जिनकी तैनाती जम्मू-कश्मीर में हुई हैं , उनका नाम भी मतदाता सूची में जुड़ेगा। चुनाव आयुक्त के द्वारा कहा गया है कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, कि कोई जम्मू कश्मीर में कब से रह रहा है। जो यहां पर किरायदार के तौर पर रह रहे हैं, उन्हें भी वोट देने का अधिकार मिलेगा ।

20 से 25 लाख नए मतदाताओं का नाम होगा शामिल

हालांकि जो जम्मू कश्मीर में वोट देना चाहते है, उन्हें अपने मूल राज्य से अपना मतदाता पंजीकरण रद्द कराना होगा।

कहा जा रहा है कि इस फैसले के बाद मतदाता सूची में करीब 20 से 25 लाख नए मतदाताओं का नाम शामिल होगा।

महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

इस फैसले के बाद महबूबा मुफ्ती के द्वारा केंद्र सरकार पर निशाना साधा गया है। उनके द्वारा कहा गया है कि पहले तो भारत सरकार के द्वारा जम्मू-कश्मीर में चुनावों को स्थगित करने का निर्णय लिया गया और अब गैर स्थानीय लोग जम्मू कश्मीर में वोट दे सकते हैं। इससे यही साबित होता है कि भाजपा चुनाव के परिणामों को अपने पक्ष में लाना चाहती है । भाजपा स्थानीय लोगों को शक्तिहीन करना चाहती है। भाजपा शक्ति से अपना शासन लागू करना चाहती है।

15 सितंबर से 25 अक्टूबर तक कैंप का होगा आयोजन

जम्मू कश्मीर में परिसीमन आयोग की रिपोर्ट लागू कि जा चुकी है , जिसके बाद विधानसभा सीटों की संख्या 90 कर दी गयी है। जिसके चलते मतदाता सूची में बदलाव देखने को मिला है। अब नए तौर पर मतदाता सूची तैयार की जा रही है। जम्मू कश्मीर में नए मतदान केंद्र बनाये जा रहे हैं। केंद्रों की संख्या 11,370 है। इसके अलावा 15 सितंबर से 25

अक्टूबर तक जम्मू कश्मीर में कैंप का आयोजन किया जायेगा। यहां पर लोग मतदाता के तौर पर रजिस्ट्रेशन कराएंगे।