नेशनल हेराल्ड प्रकरण पर कांग्रेस का बयान- ‘केंद्र सरकार के इशारे पर हो रहा प्रपंच, हम न डरने वाले हैं न ही झुकने वाले हैं’

0
287
देहरादून पहुंची अल्का लांबा

देहरादून ( अरुण सैनी)  :  आज देहरादून पहुंची कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता अल्का लांबा ने नेशनल हेराल्ड प्रकरण को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में बयान दिया है। उन्होने नेशनल हेराल्ड प्रकरण में सोनिया गांधी और अन्य नेताओं को मिले ईडी के नोटिस को केंद्र सरकार की सुनियोजित साजिश बताया है। देहरादून के राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में अल्का लांबा कहा कि कांग्रेस न डरने वाली है और न ही झुकने वाली है बल्की कांग्रेस सीना ठोक कर हर साजिश का मुकाबला करेगी।

अल्का लांबा ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को दून में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा के नेतृत्व में कांग्रेस क्रास रोड स्थित ईडी कार्यालय के बाहर विरोध-प्रदर्शन करेगी। उन्होंने कहा कि नेशनल हेराल्ड आजादी के आंदेालन से जुड़ा अखबार है। कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि 2013 में केंद्रीय चुनाव आयोग तो 2015 में खुद ईडी इस मामले में लगाए आरेापों को खारिज कर चुकी है। लेकिन अब राजनीतिक लाभ लेने के लिए केंद्र सरकार के इशारे पर ईडी जांच और नोटिस का प्रपंच कर रही है।ताकी  बढ़ती बेरोजगारी, महंगाई से लोगों का ध्यान हटाया जा सके। उन्होने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों की आवाज को बुलंद करने के लिए इस अखबार को स्थापित किया गया था। अखबार 90 करोड रुपये के कर्ज में आ गया था। लेकिन आजादी के आंदोलन का सहयोगी होने की वजह से कांग्रेस ने ये तय किया कि इसे बंद नहीं किया जाएगा। जिसके लिए कांग्रेस ने नो प्रोफिट नो लॉस की संस्था यंग इंडियन के जरिए इसका आर्थिक सहयोग किया। लेकिन अब अचानक इस मामले में करोड़ों के आर्थिक घपले के आरोप लगाए जा रहे हैं, जबकी इसमें एक रुपये का भी लेनदेन नहीं हुआ है। ये भी पढ़े-प्रयागराज हिंसा के बाद योगी का एक्शन, हिंसा के मास्टरमाइंड के घर चला बुलडोजर

देहरादून पहुंची अल्का लांबा

अल्का लांबा ने कहा कि बीजेपी के नेता लगातार कांग्रेस के नेताओं केा बदनाम करते रहे हैं। 2014 से आज तक भाजपा सत्ता में है। लेकिन कांग्रेस के 70 साल के कार्यकाल पर सवाल उठाने वाले भाजपा नेता सात कांग्रेस नेताओं पर एक भी आरोप साबित नहीं कर पाए हैं। वहीं प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ईडी के एक पूर्व वरिष्ठ अधिकारी और वर्तमान में भाजपा नेता पर भी लांबा ने कई सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि ईडी के एक पूर्व वरिष्ठ अधिकारी ने कई प्रकरणों में गलत जांच की है। जिनके आधार पर भाजपा के लोग कांग्रेस के नेताओ केा बदनाम करते रहे हैं। ये भी पढ़े-भ्रष्ट के साथ अय्याश भी थे राम विलास? PCS से ऐसे बने IAS, पत्नी के रहते रचाई दूसरी शादी