Kanpur Police का खुलासा 20% कमीशन पर खोले जा रहे बैंक खाते

0
39
KANPUR POLICE

Kanpur Police  ने किया खुलासा, बैंक खाते के बदले कमीशन 

कानपुर पुलिस क्राइम ब्रांच ने वित्त मंत्रालय से भेजे गए बैंक खातों की जांच पड़ताल में खुलासा किया है जिसमे साइबर अपराध से जुड़े मामले सामने आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि जालौन के एक ठग ने 5 साल में किदवई नगर की एक महिला के बैंक खाते में 20 लाख रूपये जमा किये और 20 प्रतिशत कमीशन दिया।

Kanpur Police संदिग्ध बैंक खाते रडार पर, साइबर अपराध से जुड़ा मामला 

KANPUR POLICE

इस समय जिस तरह से रोज नए नए साइबर अपराध सामने आ रहे हैं वो वाकई चिंताजनक है. वित्त मंत्रालय के रडार पर रहे कानपुर के संदिग्ध बैंक खातों की कड़ियाँ साइबर अपराध से जुड़ती जा रही हैं. एक ऐसा ही बैंक खाता पुलिस के नजर में आया है, जिसमें 5 सालों में 20 लाख से ज्यादा रकम डाली गयी और रकम डालने वाला जालौन का एक साइबर ठग है और जिस खाते में पैसे भेजे गए वो कोई महिला है जो किदवई नगर में रहती है. ये दोनों ठग और महिला जब पुलिस की गिरफ्त में आये तो पता चला कि उस 20 लाख के बदले उसे 20% कमीशन मिलता था।

वित्त मंत्रालय ने रिपोर्ट में Kanpur Police को बताया कि बहुत से खाते शक के दायरे में थे जिनका KYC भी नहीं था और 91 ऐसे खाते जिनके नाम पते गलत हैं और इन्ही खातों में लाखों करोड़ों के लेनदेन हुए हैं.

Kanpur Police ने खोले राज,छात्रवृति के नाम पर खुलवाया खाता 

Kanpur Police

पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि रानी देवी के नाम वाला खाता वो फ़र्ज़ी निकला। रानी ने बताया कि उसने ये खाता 2015 में छात्रवृति के लिए खुलवाया था, लेकिन खाते में 2015 से 2020 के अंदर 20 लाख से ज्यादा रकम अलग अलग बैंकों और e -wallet से जमा किये गए।

Kanpur Police की जांच में खाते में दर्ज नंबर साइबर ठग का निकला 

पुलिस ने बताया की जो नंबर रानी देवी के खाते में दर्ज है वो जालौन निवासी साइबर ठग जुगुल किशोर का है और जब उस पर कॉल की गयी तो फ़ोन नहीं उठाया गया। बाद में CDR से दूसरा नंबर मिला और उस पर रानी से बात करवाई गयी। झांसे में लेकर उस साइबर ठग को पुलिस ने नए खाते खोलने के लिए बुलाया और पकड़ लिया। बाद में जो खुलासा उस ठग ने किया वो हैरान करने वाला था।

ये भी पढ़ें Uttarakhand Bharti Ghotala: अब 2015 में हुई दरोगा भर्ती की होगी विजिलेंस जांच