देहरादून एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाना सरकार के लिए बड़ी चुनौती, यह है कारण

0
218
Jollygrant airport dehradun
Jollygrant airport dehradun

Uttarakhand Devbhoomi Desk: राजधानी देहरादून में स्थित जौलीग्रांट एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। लेकिन अब ये सरकार के लिए टेढ़ी खीर बन रहा है। आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय उड़ान के लिए जौलीग्रांट एयरपोर्ट (Jollygrant airport dehradun) की रनवे लेंथ 900 मीटर कम है। इसके लिए सरकार को पेड़ों का कटान और रिहायशी इलाकों की ओर विस्तारीकरण में विरोध झेलना पड़ सकता है। जो किसी चुनौती से काम नहीं है।

यह भी पढ़ें:
nainital groom protest for road
‘डिमांड’ पूरी करने पर ही भरूंगा ‘मांग’, बारातियों संग बीच सड़क पर दूल्हे ने यूं दिया धरना

Jollygrant airport dehradun: विदेशी पर्यटकों की संख्या भी हुई सीमित

रीपोर्ट्स के मुताबिक विदेशी पर्यटकों की संख्या भी सीमित हो गई है। देखा जा रहा है कि राज्य में कोरोना काल के बाद से विदेशी पर्यटकों में काफी गिरावट दर्ज की गई है। इसी कारण राज्य सरकार उत्तरखन में अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इंटरनेशनल फ्लाइट (Jollygrant airport dehradun) की शुरुआत करने जा रही है।

यह भी पढ़ें:
uttarakhand board exam topper reward
उत्तराखंड बोर्ड के टॉपरों को सम्मानित करेगी सरकार, शिक्षा मंत्री ने की घोषणा

नागरिक उड्डयन सचिव दीलीप जावलकर (Jollygrant airport dehradun) का इस विषय में कहना है कि इसको लेकर एक सर्वे भी करवाया गया है। लेकिन इसमे लोगों का विरोध देखने को मिला है। हालांकि अभी भारत सरकार की रिपोर्ट आना बाकी है।

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com