Google Doodle : Anna Mani कौन हैं ? जिनको Google ने किया याद

0
154
Google Doodle: Anna Mani

Google Doodle: Anna Mani बनी आज के गूगल डूडल 

Google Doodle Celebrates  Anna Mani’s Birthday : आज यानी 23 अगस्त 2022 को भारतीय मौसम वैज्ञानी अन्ना मणि के 104वें जन्मदिन पर सर्च इंजन गूगल  ने खास डूडल बनाया है। आपको बता दें कि अन्ना मणि पहली भारतीय महिला वैज्ञानिकों में से एक है। उनका जन्म 1918 में आज ही के दिन हुआ था। उनका काम और शोध भी एक वजह रही है जिसने भारत के लिए सटीक मौसम पुर्वानुमान करना संभव बनाया।

ये भी पढ़े: Nasa Moon Missions: 2 मिनट की कॉल में दफन चांद पर न जाने का राज़

Anna Mani का प्रारंभिक जीवन

Google doodle: anna mani
Google Doodle Celebrates  Anna Mani’s Birthday

Anna Mani का जन्म 23 अगस्त 1918 को पीरुमेडू त्रवनकोर में हुआ था। वो आठ बच्चों में सातवी संतान थी। उनके पिता एक civil engineer थे। बचपन से ही अन्ना मणि को किताबें पढ़ना बहुत पंसद था। वायकोम सत्यागग्रह के दौरान अन्ना मणि महात्मा गांधी के काम से बहुत ज्यादा प्रभावित हुई थी।

इसी के चलते उन्होंने केवल खादी के कपड़े पहनना शुरु किया। माना जाता है कि वो पहले आयुर्विज्ञान पढ़ना चाहती थी लेकिन अंत में क्योंकि उन्हें भौतिक विज्ञान में ज्यादा दिलचस्पी थी इसिलिए उन्होंने वही पढ़ने का निर्णय लिया।

Google Doodle : Anna Mani
Google Doodle : Anna Mani

 

Google Doodle: अन्ना मणि की पढ़ाई

Anna Mani ने 1939 में मद्रास के प्रेसिडेन्सी कॉलेज से भौतिक और रसायन शास्त्र में विज्ञान स्नातक की उपाधि प्राप्त की।  इसके बाद उन्होंने सी वी रमन के साथ काम किया।  जहां उन्होंने हीरे और प्रकाशीय गुणों के विषय में अनुसंधान किया। वे पांच शोध पत्रों की लेखक थीं। इसके बाद वो आगे की पढ़ाई के लिए ब्रिटेन चली गई जहां उन्होंने लंदन के इम्पीरियल कॉलेज से मौसम विज्ञान में अपनी पढ़ाई पूरी की।

google doodle : ana mani

 

1948 में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद अन्ना मणि ने पुणे के मौसम विभाग में नौकरी की। यहां उन्होंने मौसम विज्ञान उपकरणों के विषय में कई शोध पत्र लिखे। Anna Mani  का प्रदर्शन इतना बेहतरीन था कि साल 1953 तक वो संभाग की प्रमुख बन गई और उनके नेतृत्व में 100 से अधिक मौसम उपकरण डिजाइनों को उत्पादन के लिए मानकीकृत किया गया था।

Google doodle anna mani
google doodle: anna mani

इसके बाद वो भारत मौसम विभाग की उप महानिदेशक बनी और संयुक्त राष्ट्र विश्व मौसम विज्ञान संगठन में कई प्रमुख पदों पर रही। इसके अलावा 1987 में उन्होंने विज्ञान में उल्लेखनीय योगदान के लिए INSA K.R रामनाथ पदक जीता।

इसके साथ ही 16 अगस्त 1994 में Anna Mani का देहांत हो गया।

ये  भी पढ़ें  : साइंस का स्टूडेंट हूं, बीजेपी के असफल प्रयोग के बाद चेहरा बदलने की थ्योरी समझता हूं : डॉ जीतराम