उत्तराखंड के इन शहरों में डीजल-पेट्रोल ऑटो पर लग सकती है रोक

Diesel-Petrol Auto
Diesel-Petrol Auto

Diesel-Petrol Auto

देहरादून और ऋषिकेश में आए दिन ट्रैफिक बढ़ता जा रहा है, प्रदूषण को बढ़ाने में डीजल और पेट्रोल से चलने वाले वाहनों को भी जिम्मेदार माना जा रहा है। जिसके चलते देहरादून और ऋषिकेश में पेट्रोल से चलने वाले ऑटो विक्रम सड़क से बाहर हो सकते हैं। एक नंवबर को गढ़वाल आयुक्त कैंप कार्यालय में होने वाली आरटीए की बैठक में ये प्रस्ताव आएगा।

साल 2019 में NGT ने सरकार को वायु प्रदूषण कम करने के निर्देश दिए थे। केंद्र सरकार ने ऋषिकेश और देहरादून को राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम के तहत चयनित किया। आपको बता दें कि मार्च 2023 तक शहरों को प्रदूषण मुक्त बनाने की योजना है। RTA की बैठक में इस पर अंतिम फैसला होना है।

Diesel-Petrol Auto
Diesel-Petrol Auto

Diesel-Petrol Auto

इसके साथ ही CNG या  BS -6 सवारी गाड़ी के परमिट मिलेंगे पेट्रोल-डीजल ऑटो-विक्रम के परमिट पर संचालक CNG वाले ऑटो विक्रम ले सकते हैं। इसमें प्राथमिकता उनको मिलेगी जो डीजल पेट्रोल के ऑटो विक्रम चला रहे थे, साथ इस पर भी विचार किया जा रहा है कि यदि कोई विक्रन बीएस-6 सवारी गाड़ी लेता है तो उसका परमिट भी परिवर्तित कर दिया जाएगा। हरिद्वार में भी ये लागू हो सकता है।

ये भी पढ़ें : भैया दूज से पहले बहन को घर बुलाकर दिया मौत का तोहफा