Dehradun Smart City के कार्यों में लेटलतीफी पर सरकार ने ब्रिज एंड रूफ संस्था को हटाया

0
267
Dehradun Smart City
Dehradun Smart City

Uttarakhand News : Dehradun Smart City  के कार्यों में लेटलतीफी और गुणवत्ता पर उठ रहे सवालों के बीच सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए कार्यकारी संस्था ब्रिज एंड रूफ को हटाने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री धामी के अनुमोदन के बाद संस्था को स्मार्ट सिटी के कार्यों से पूरी तरह से हटा दिया है।

शहरी विकास मंत्री की बैठक में लिया फैसला

Dehradun Smart City
Dehradun Smart City

Dehradun Smart City के कार्यों को लेकर शहरी विकास और आवास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने सीईओ स्मार्ट सिटी सोनिका और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने बताया कि सीवरेज और ड्रेनेज योजना के कार्यों के लिए ब्रिज एंड रूफ संस्था को चुना गया था, लेकिन इस संस्था द्वारा कार्यों में लेटलतीफी की गई, साथ ही गुणवत्ता युक्त कार्य भी नहीं किये जा रहे थे, जिसके बाद ब्रिज एंड रूफ संस्था को कार्यों से हटाने के फैसला लिया गया है।

इस फैसले के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहले ही अनुमोदन दे चुके थे। अब सीवरेज और ड्रेनेज के कार्यों के लिए पेयजल और सिंचाई विभाग को जिम्मा सौंपा गया है तो रोड वर्क के लिए पीडब्ल्यूडी को कार्यदायी संस्था बनाया गया है।

Dehradun Smart City के कार्यों में लगातार उठ रहे हैं सवाल

Dehradun Smart City
Dehradun Smart City

देहरादून शहर को स्मार्ट बनाने के लिए केंद्र सरकार की मदद से Dehradun Smart City कार्य योजना चल रही है। लेकिन लगातार इस योजना पर सवाल खड़े होते आये हैं। Dehradun Smart City कार्यों में हो रही देरी के कारण दूनवासी लगातार परेशान हैं, तो कार्यों की गुणवत्ता पर सवाल उठाते आ रहे हैं।

अब व्यापारियों और स्थानीय लोगों के विरोध के बाद इस कार्रवाई शुरू हुई है। इस विरोध के बाद ही देहरादून राजपुर रोड विधायक खजानदास ने तो अपनी सरकार को ही चेतावनी देते हुए धरने पर बैठने की धमकी तक दी थी।

Dehradun Smart City पहले भी एक संस्था पर हुई थी कार्रवाई

Dehradun Smart City
Dehradun Smart City

ब्रिज एंड रूफ Dehradun Smart City के तहत इंटीग्रेटेड सीवरेज एंड रेज योजना का कार्य दिया गया था। यही नहीं इस संस्था को रोड परियोजना का भी कार्य दिया गया था। 29 जुलाई को जब मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने कार्यों का निरीक्षण किया तो उन्होंने कार्यकारी संस्था को फटकार भी लगाई थी। लेकिन संस्था द्वारा कार्यों में तेजी न लाने पर उसे हटा दिया गया है। इससे पहले कार्यों में लापरवाही को लेकर हिंदुस्तान स्टील वर्क्स कंस्ट्रक्शन लिमिटेड पर भी कार्रवाई करते हुए कार्यों से हटा दिया था।

 ये भी पढ़ें…

Youtuber Bobby Kataria के घर पर दून पुलिस ने कुर्की का नोटिस किया चस्पा