उत्तर प्रदेश भाजपा का विरोध करने वालों मुस्लिमों के हौसले इनते बुलंद हो गए हैं कि, अब वो बीजेपी को वोट करने और उसका समर्थन करने वाले मुसलमान परिवारों के ऊपर तमाम पाबन्दियाँ लगाने पर उतारू हैं। ऐसा ही एक मामला प्रदेश के बाराबंकी जिले में देखने को मिला। जहां बीजेपी को वोट देने की सज़ा मुस्लिम परिवार को भारी पड़ गई। जिसके बाद गांव वालों ने उस परिवार का बहिस्कार कर दिया। मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक लगाई गई है। लड़के की शादी में शामिल होने वालों पर घोषित कर दिया है।

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में एक मुस्लिम परिवार ने अपने ही मुस्लिम समुदाय पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है कि, उन लोगों ने यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के पक्ष में वोट किया। जिसके चलते गांव वालों ने उन सभी का हुक्का-पानी बंद कर दिया है।

बाराबंकी जिले के फतेहपुर कोतवाली क्षेत्र के रेरिया गांव से सामने आया है। यहां एक मुस्लिम परिवार को बीजेपी को वोट देना इतना भारी पड़ गया कि ग्राम प्रधान सहित गांव के सभी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इस परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया है। हद तो तब हो गई जब इस परिवार को गांव की मस्जिद में नमाज पढ़ने और उनकी दुकान से गांव वालों को सामान लेने से रोक दिया गया। ऐसे में गांव वालों के इस जुल्मों सितम से यह परिवार काफी परेशान हैं।

गांव वालों के हुक्का-पानी बंद करने से परेशान परिवार का आरोप है कि उन लोगों ने पुलिस से मदद मांगी, लेकिन पुलिस आखिर क्यों मदद करें क्योंकि पुलिस तो ग्राम प्रधान से मिली हुई है। आखिर पुलिस ग्राम प्रधान से मिली नहीं होती तो परिवार को अब तक न्याय मिल गया होता और परिवार सकून से रह रहा होता। परिवार का आरोप है कि पुलिस उनपर जबरदस्ती सुलह का दबाव बना रही है।