देहरादून, ब्यूरो :  चारधाम यात्रा में स्वास्थ्य कारणों के चलते तीर्थ यात्रियों की मौत सिलसिला जारी है। 26 दिनों की यात्रा में अब तक 104 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। केदारनाथ यात्रा पर आए चार और तीर्थयात्रियों की शनिवार को मौत हो गई। आपको बता दें कि केदारनाथ यात्रा में अब तक कुल 48 यात्रियों की मौत हो गई है। इसी क्रम में गंगोत्री में एक और यमुनोत्री में भी एक तीर्थयात्री की मौत हुई है। यात्रियों की मृत्यु की वजह हृदयगति रुकना बताया जा रहा है।

मृतक यात्रियों का विवरण –

 

  • 71 वर्षीय पेमा पाटीदार, अंगज रेव्न्यू एरिया, मध्य प्रदेश
  • 62 वर्षीय प्रेमजी रामजी बाई यादव, तेहरसी सीतारामनगर, भरतनगर रोड भावनगर, गुजरात
  • बीरेंद्र सिंह कटारा, कनवर बाद मध्य प्रदेश
  • 64 वर्षीय रताकोंडा शेखर बाबू निवासी लक्ष्मीनारायण, आंध्र प्रदेश

कोरोना काल के बाद शुरू हुई इस यात्रा में जहां श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रित करना प्रशासन और सरकार के लिए चुनौती बन हुआ है, वहीं लगातार हो रही तीर्थयात्रियों की मौत ने भी सरकार की चिंता बढ़ा दी है। हालांकि सरकार ने बिते दिनों तीर्थयात्रियों से अपील भी की थी। जिसमें बुजुर्गों और बीमार रहने वालों से स्वास्थ्य परीक्षण कर ही यात्रा में आने की अपील की गई है, साथ ही उनसे हेल्थ सर्टिफिकेट लाने को भी कहा गया।  स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक जिन लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं उन्हें यात्रा नहीं करनी चाहिए।