बुर्ज खलीफा का बिजली का बिल देख उड़े शेख के होश

0
1949

Burj Khalifa के नाम केवल एक रिकॉर्ड नहीं, बल्कि कई रिकॉर्ड हैं दर्ज

Burj Khalifa: क्या आपको मालूम है कि दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा का साल भर में कितना बिजली का बिल आता है। दुनिया भर में अपनी ऊचांई और लाइटनिंग शो को लेकर मशहूर बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) को बनाने में कितने मजदूर लगे थे, कितना पैसा लगा था और वक्त भी? आज इसी पर बात करेंगे और आपको देगें बुर्ज खलीफा के बारे में वो जानकारियां जो शायद ही आपको पता होंगी।

आसमान की ऊंचाइयों को छूने वाले बुर्ज खलीफा को बनाने में प्रति दिन 12 हजार से भी ज्यादा कारीगर लगे थे। इसकी ऊंचाई 2716.5 फीट है, जिसके बाद ये दुनिया की सबसे बड़ी इमारत के रूप में जानी जाने लगी। आपको बता दें कि इससे पहले दुनिया की सबसे ऊंची इमारत थी एफिल टावर और बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) की ऊंचाई एफिल टावर से भी 3 गुना ज्यादा है। इसके बाद कई दशों ने बुर्ज खलीफा को टक्कर देने के इरादे से काफी ऊंची ऊंची इमारते बनवाईं लेकिन बुर्ज खलीफा की ऊंचाई के आगे कोई नही टिक पाया।

Burj Khalifa
Burj Khalifa

बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) को बनाने का काम जनवरी 2004 में शुरू हो गया था और इस अनोखी इमारत को बनाते बनाते करीबन 6 साल का वक्त लग गया था। आपको बता दें कि अक्टूबर 2009 में बुर्ज खलीफा को बनाने का काम पूरा हुआ था और 4 जनवरी 2010 को बुर्ज खलीफा को आधिकारिक रूप से सभी के लिए खोल दिया गया था।

ये शायद ही किसी को मालूम होगा कि बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) विश्व में केवल सबसे ऊंची इमारत के लिए नही जाना जाता, बल्कि इसके नाम 7 और वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज हैं जिसमें से एक सबसे ऊंची लिफ्ट भी है।   

ये भी पढ़ें:
Viral Video of Girls
नाचते-नाचते फटी जमीन और 6 लड़कियां समा गईं जमीन में, वीडियो वायरल

     

अब बुर्ज खलीफा की बनावट पर थोड़ी बात कर लेते हैं। बुर्ज खलीफा की इमारत के बाहरी हिस्से में इतने ग्लास पैनल्स लगें हैं कि इनकी साफ सफाई में करीबन तीन महीने लग जाते हैं, इसमें करीबन 26000 कांच के पैनल लगे हुए हैं।

वहीं इस इमारत का ढांचा खड़ा करने में ज्यादातर कंक्रीट और एल्युमिनियम का इस्तेमाल किया गया है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस इमारत को बनाने में जितना कंक्रीट इस्तेमाल किया गया है वो करीबन 1 लाख हाथियों के वजन के बराबर है। वहीं बात करें अगर कि इस इमारत को बनाने में कितना एल्युमिनियम इस्तेमाल हुआ है तो ये पांच A380 एयरक्राफ्ट के वजन के बराबर है।

Burj Khalifa
Burj Khalifa

आपको बता दें कि बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) के अंदर कुल 163 फ्लोर्स हैं, जिनमें 304 होटल्स हैं, 900 अपार्टमेंट्स हैं, 37 ऑफिसेस हैं और इस पूरी बिल्डिंग में 58 लिफ्ट्स लगाई गई हैं। वहीं बुर्ज खलीफा को अंदर से देखने के लिए आने वाले लोगों के लिए यहां अच्छा खासा पार्किंग स्पेस भी है, यहां 2957 पार्किंग स्पेस है।

अब आपको बताते हैं कि रात भर रोशनी से जगमगाने वाले बुर्ज खलीफा का बिल आखिरकार कितना आता है। बुर्ज खलीफा में एक दिन में करीबन 36 मिलियन वैट बिजली इस्तेमाल होती है। इस मुताबिक बुर्ज खलीफा का सालाना बिजली का बिल करीबन 3 करोड़ से ज्यादा आता है।

बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) को बनाने में करीबन 1.5 बिलियन डॉलर से भी ज्यादा का खर्च आया है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि ये इमारत इतनी ऊंची है कि इसे 95 किलोमीटर दूर से ही देखा जा सकता है। वहीं जिस इमारत को आज आप बुर्ज खलीफा के नाम से जानते हैं उसे उद्घाटन से पहले लोग बुर्ज और खलीफा टावर के नाम से जानते थे।

ये भी पढ़ें:
Versavia Boron Heart
सीने के बाहर धड़कता है इस बच्ची का दिल

For latest news of Uttarakhand subscribe devbhominews.com