लक्सर, ब्यूरो : लक्सर एडीजे कोर्ट ने चार साल पुराने हत्या के मामले में आरोपी भाइयों को फांसी की सजा सुनाई है। बहन के प्रेम विवाह से नाराज भाइयों ने बहन को घर बुलार कर उसकी हत्या कर दी थी।

पूरा मामला लक्सर के खानपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर गांव का है। जहां रहने वाली प्रीति ने साल 2014 में पड़ोस के गांव में रहने वाले ब्रजमोहन से प्रेम विवाह किया था। प्रीति की शादी के बाद से उनका परिवार उससे नाराज था। और उसके परिजनों ने उसे घर से निकाल दिया था। लेकिन 18 मई 2018 को उसके दो सगे भाइयों और एक ममेरे भाई ने माता-पिता से सुलह कराने का झांसा प्रीति को दिया। माता-पिता से सुलह की सोचकर प्रीति खानपुर के अब्दीपुर गांव में अपने मामा के घर पहुंची। जहां प्रीति के सगे भाई कुलदीप, अरुण और ममेरे भाई राहुल ने गंडासे से काटकर उसकी निर्मम हत्या कर दी।

प्रीति की हत्या के बाद उसके पति ब्रजमोहन ने चार लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने भी मामले में कार्रवाई करते हुए कुलदीप, राहुल औरर अरुण को जेल भेज दिया था। लेकिन चौथे आरोपी का नाम मुकदमे से निकाल दिया गया था। विवेचना के बाद पुलिस ने तीनों के खिलाफ कोर्ट में आरोप पत्र भेजा । वहीं अब मामले में सुनवाई के बाद लक्सर के अपर जिला और सत्र न्यायाधीश शंकर राज ने तीनों आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई है। अधिवक्ता ठकराल ने बताया कि तीनों को जेल भेजा गया है। हालांकी अभी फांसी की तिथि तय नहीं हुई है। इस दौरान अगर आरोपी चाहें तो निर्णय की अपील कर सकते हैं।