Agniveer Bharti को निकला चुनेर का युवक बन गया चोर, Police कस्टड़ी से गंगा में कूदा

0
410
Agniveer Bharti

पुलिस मामले को एक जिले से दूसरे जिले का होने में उलझी

युवक हिरासत से भागकर यहाँ से गंगा में कूदा, 3 दिन बाद भी नहीं लगा सुराग

देहरादून/ऋषिकेश, ब्यूरो। कोटद्वार में हो रही अग्निवीर भर्ती रैली (Agniveer Bharti Rally) में उत्तरकाशी जनपद के चुनेर गांव पोस्ट ऑफिस धौंतरी का एक युवक शामिल होने के लिए निकला था, लेकिन ऋषिकेश में परमार्थ निकेतन आश्रम के दानपात्र से चोरी के आरोप में मुनीकीरेती टिहरी गढ़वाल पुलिस ने हिरासत में ले लिया। परमार्थ आश्रम प्रबंधन ने चोरी की कोई रिपोर्ट भी पुलिस को नहीं लिखवाई।

Agniveer Bharti Railly Kotdwar में वह शामिल होने घर से निकला था। मुनीकीरेती थाना टिहरी जनपद पुलिस ने मामला लक्ष्मणझूला थाना क्षेत्र पौड़ी का होने के कारण लक्षमणझूला थाना पुलिस को युवक सौंप दिया। लेकिन, युवक पुलिस कस्टड़ी से उसी दिन देर रात फरार हो गया और लक्ष्मणझूला पुल से गंगा नदी में छलांग लगा ली।

Agniveer Bharti

Agniveer Bharti को निकला और यहां से गंगा नदी में कूदा

दरअसल, Agniveer Bharti को निकला युवक ऋषिकेश में चोर बन गया। उत्तराखंड के पौड़ी जिले की लक्ष्मणझूला थाना पुलिस ने Agniveer Bharti को निकले इस युवक को एलआईयू भवन के पास ही एक सिपाही के हावाले कर दिया। तीन दिन पहले देर रात युवक ने टायलेट जाने का बहाना बनाया और बाहर आकर लक्ष्मणझूला पुल की ओर भाग गया। पीछे से पुलिस कर्मी भी भागा, लेकिन युवक ने लक्ष्मणझूला पुल से उफान पर बह रही गंगा नदी में छलांग लगा दी। पूरा मामला सीसीटीवी में भी कैद हो गया।

Agniveer Bharti लक्ष्मणझूला थाना

Agniveer Bharti बनने कि वजाय चोर बनकर गंगा में कूदने को दबाती रही पुलिस

पुलिस मामले को छिपाने में लगी थी, लेकिन तमाम मीडिया की सुर्खियों में आने के बाद अब पुलिस और एसडीआरएफ युवक की तलाश में जुटी है। युवक गंगा के तेज बहाव में लापता हो गया। दूसरी ओर मामला सुर्खियों में आने के बाद युवक के परिजन भी एक दिन पहले लक्ष्मणझूला थाना पहुंचे और जमकर हंगामा काटा। अब पुलिस के दो अफसर दो दिन से ऋषिकेश में इस लापता युवक की तलाश में जुटे हैं। Agniveer Bharti को निकले युवक्त के परिजनों का आरोप है कि हिरासत में होने के बाद भी आखिर कैसे युवक फरार हो गया।

1 कट्टे में दानपात्र से चोरी कर लाया था पैसे और अन्य सामान

तीन दिन पहले 1 कट्टे में कुछ सिक्के, कुछ नोट और अन्य सामान परमार्थ निकेतन आश्रम ऋषिकेश से चोरी करने के आरोप में मुनीकीरेती थाना पुलिस ने उत्तरकाशी के सुमेर गांव पोस्ट आफिस धौंतरी निवासी केदार सिंह भंडारी (22 वर्ष) पुत्र लक्ष्मण सिंह भंडारी को हिरासत में लिया था।

पूछताछ में मामला चोरी का और घटनास्थल लक्ष्मणझूला थाना इलाके का होने के कारण युवक को पौड़ी पुलिस के हवाले किया था। लेकिन, चोरी की रिपोर्ट आश्रम प्रबंधन की ओर से नहीं की गई थी। इससे पुलिस ने इस युवक को एक सिपाही के हवाले किया था। उसी दिन रात को केदार सिंह भंडारी बहाना बनाकर बाहर आया और लक्ष्मणझूला पुलिस की भाग गया। पुलिस कर्मी पीछे से पकड़ने दौड़ा तो उसने लक्ष्मणझूला झूला पुल से गंगा नदी में छलांग लगा ली।

पूरा मामला सीसीटीवी कैमरे में कैद

पूरा मामला सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गया था। पुलिस ने 2 दिन तक मामला दबाए रखा। ऐसा कुछ भी होने से इनकार करते हुए बचती रही। मीडिया की सूर्खियों में आने के बाद एसएसपी पौड़ी में एसपी पौड़ी शेखर सुयाल को मामले की जांच सौंपी। दो दिन से एसपी पौड़ी शेखर सुयाल और सीओ श्रीनगर श्यामधन नौटियाल ऋषिकेश में आरोपी की तलाश कर रहे हैं।

Agniveer Bharti munikireti thana tehri district

गंगा में कूदा युवक लापता, एसडीआरएफ को भी नहीं मिला

पुलिस के अनुसार एसडीआरएफ की टीम के साथ ही स्थानीय पुलिस भीमगौड़ा बैराज से युवक की तलाश में जुटी है, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लग पाया है। दूसरी ओर मामला तब और पेचीदा हो गया जब उत्तरकाशी के चुनेर गांव निवासी केदार सिंह भंडारी पुत्र लक्ष्मण सिंह भंडारी के परिजन और ग्राम प्रधान 1 दिन पहले लक्ष्मण झूला थाना पहुंचे। उन्होंने हिरासत से भागने भागे युवक की गिरफ्तारी न होने पर हंगामा किया। ग्रामीणों का कहना है कि युवक अब लापता हो गया है, इसके लिए कौन जिम्मेदार है?

दूसरी ओर एसएसपी यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि आरोपी युवक मुनी की रेती थाना पुलिस ने लक्ष्मण झूला थाना क्षेत्र के परमार्थ निकेतन आश्रम में चोरी करते हुए पुलिस को सौंपा था। उन्होंने बताया कि परमार्थ निकेतन आश्रम से कोई तहरीर नहीं मिली थी। इसलिए युवक को निगरानी में रखा गया था, लेकिन वह भाग गया। एसपी पौड़ी को इस संबंध में जांच के आदेश दिए गए हैं।

Agniveer Bharti Rally : UP का ताहिर Hindu बनकर फर्जी मूल निवास संग UK पहुंचा भर्ती होने

Dr. B. R. Ambedkar की मूर्ति खंडित करने पर खूनी संघर्ष, 4 गंभीर; 2 Police कर्मी भी चोटिल