अस्पताल निर्माण में कार्य की गुणवत्ता से नहीं होगा समझौता, विधायक ने दिये ये निर्देश

0
191

लालकुआं विधायक शपथ ग्रहण के बाद दिखे एक्शन मोड में, निर्माणाधीन अस्पताल का किया निरीक्षण

लाल कुआं (योगेश दुमका): लालकुआं विधानसभा के विधायक डॉ. मोहन बिष्ट राजधानी देहरादून से शपथ ग्रहण से वापसी के तुरंत बाद आज एक्शन मोड में दिखे। लाल कुआं के विभिन्न क्षेत्रों में जन समस्याओं का निरीक्षण करने पहुंचे विधायक ने कई वर्षों से लंबित पड़े हल्दूचैड़ के निर्माणाधीन सरकारी अस्पताल के भवन का औचक निरीक्षण किया। विधायक डॉ मोहन बिष्ट ने पूरे अस्पताल का निरीक्षण करते हुए कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को कंस्ट्रक्शन में लगाई जा रही सामग्री की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखने की बात कही तथा कई जगहों पर सही गुणवत्ता की सामग्री नहीं लगाई जाने पर कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्देश दिया कि तुरंत इस कार्य को पुनः किया जाए।

devbhoomi
devbhoomi
devbhoomi
devbhoomi

विधायक ने कहा कि कई वर्षों से लंबित पड़े अस्पताल के कार्य को जल्द ही पूरा करवा लिया जाएगा तथा क्षेत्र के लोगों को इस अस्पताल के तैयार होने के बाद सभी मेडिकल सुविधाएं मिलेंगी और क्षेत्र के लोगों को इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा। विधायक डॉ मोहन बिष्ट ने कहा कि जो कार्य बच गया है उसे जल्द पूरा करा लिया जाएगा। विधायक मोहन बिष्ट ने सामग्री की गुणवत्ता के मामले पर कहा कि अस्पताल के निर्माण कार्य की गुणवत्ता में कमी की कोई गुंजाइश नहीं छोड़ी जाएगी और अगर गुणवत्ता में कहीं कमी आती है तो वह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे।

uttarakhand news
uttarakhand news
uttarakhand news
uttarakhand news

मौके पर पहुंची एसीएमओ रश्मी पंत ने कहा कि निर्माण कार्य में वित्तीय समस्या के चलते कार्य रुक गया था तथा पुनः कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। जल्द ही कार्यदायी संस्था के द्वारा अस्पताल हमारे हैंड ओवर कर दिया जाएगा। मौके पर पहुंचे विधायक ने गुणवत्ता में कमी की बात बताई है। उस पर कार्यदायी संस्था को मेरे द्वारा निर्देश दे दिए गए हैं।

बताते चलें कि कई वर्षों से अस्पताल का कार्य पूरा नहीं हो पाया जिसके चलते बिंदुखतता, लाल कुआं, मोटा हल्दु, बेरिपडो तथा आसपास के कई क्षेत्रों के लोगों को अस्पताल ना होने के चलते कई परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। वहीं, मरीजों को इधर-उधर भटकना पड़ता है। ,कई बार तो लोगों की जान तक चली जाती है। अस्पताल तैयार होने के बाद क्षेत्र के लोगों को कई समस्याओं से निदान मिल जाएगा।