यति नरसिंहानंद के विवादित बोल, कहा हिन्दुओं को ‘हर घर तिरंगा’ अभियान का बहिष्कार करना चाहिए

अक्सर विवादित बयान देने वाले गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर और जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरि ने फिर से विवादित बयान दिया है इस बार यति ने केंद्र सरकार के द्वारा चलाये गए ‘हर घर तिरंगा’ अभियान का विरोध किया है, उनके द्वारा अपील की गयी है कि सभी हिन्दू इस अभियान का बहिष्कार करें।

यति ने दिया विवादित बयान

यति नरसिंहानंद गिरि के द्वारा कहा गया कि ,”इस देश में तिरंगे के नाम पर एक बहुत बड़ा अभियान चल रहा है। यह अभियान भारत की सत्तारूढ़ पार्टी चलवा रही है। तिरंगे बनाने का सबसे बड़ा ऑर्डर बंगाल की एक ऐसी कंपनी को दिया गया है जिसका मालिक सलाउद्दीन नाम का एक मुसलमान है।”

हिंदुओं को मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करना चाहिए”

यति नरसिंहानंद गिरि ने आगे कहा कि “दुनिया के सबसे बड़े पाखंडी हिंदू हैं। हिंदुओं के दलाल मुसलमानों के आर्थिक बहिष्कार की बात करते हैं, वे चिल्ला चिल्लाकर कहते हैं कि हिंदुओं को मुसलमानों का आर्थिक बहिष्कार करना चाहिए, लेकिन सरकार बनने के बाद वे सरकारी ठेके भी मुसलमानों को दे देते हैं।”

“मुसलमानों को पैसे जा रहे है”

यति नरसिंहानंद गिरि के द्वारा कहा गया कि ,”यह अभियान हिंदुओं ने खिलाफ षड्यंत्र है। हिंदुओं! अगर जिंदा रहना है तो मुसलमानों को पैसे देने वाले इस अभियान का बहिष्कार करो। घर पर तिरंगा लगाना है तो कोई पुराना तिरंगा लगा लो, लेकिन नये तिरंग के नाम पर सलाउद्दीन को एक भी रुपया मत दो।

तिरंगे का ही बहिष्कार करने को कहा

यति नरसिंहानंद ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुसलमान का के पास हिंदू का जो रुपया जाता है वह जिहाद के लिए उस पैसे को देता है। यही रूपया हिंदुओं और उनके बच्चों के कत्ल करने के काम आता है। साथ ही उन्होंने कहा कि तिरंगे का बहिष्कार करना चाहिए क्योंकि यह तिरंगा तुम्हें बर्बाद कर रहा है। हर हिंदू को हमेशा अपने घर में भगवा ध्वज ही लगाना चाहिए।

वीडियो 15 दिन पुराना

यति नरसिंहानंद गिरि का जो वीडियो सामने आया है वह मंदिर परिसर में ही बनाया गया वीडियो है। सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि यह वीडियो 15 दिन पुराना है लेकिन वायरल अभी हुआ है। कहा जा रहा है कि जिस तरीके से गिरि का विवादित बयान सामने आया है, उससे उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है।